मुस्लिम महिला ने पति के ट्रिपल तलाक के नोटिस को मानने से किया इनकार

जागरूक टाइम्स 104 May 24, 2018
पुणे : इन दिनों देशभर में ट्रिपल तलाक के मुद्दे पर बहस छिड़ी हुई है। इस बीच पुणे में १८ साल की एक मुस्लिम महिला द्वारा पति के ट्रिपल तलाक के नोटिस को मानने से इनकार करने की खबर है। दरअसल अर्शिया बागवान नाम की महिला का इस्लामी परंपरा के अनुसार हाल ही में तलाक हो गया था लेकिन उसने तलाक को स्वीकार करने से इनकार कर दिया और इस घृणित प्रथा के खिलाफ लड़ाई लड़ने का फैसला किया है। अर्शिया ने आरोप लगाया था कि शादी के बाद ही उसके ससुराल वालों ने यातना देना शुरू कर दिया था। उसे बारामती में अपने पिता के घर भेज दिया गया जहां उसे अपने पति से कुछ दिनों पहले तलाक का नोटिस मिला जिसमें तीन बार तलाक लिखा हुआ है। अर्शिया का कहना है कि उसकी शादी १६ साल की उम्र में पुणे शहर के एक सब्जी व्यापारी मोहम्मद काजिम बागवान से हुई थी। शादी के छह महीने बाद ही सास ने मुझे यातना देना शुरू कर दिया। इतना ही नहीं मेरे गर्भवती होने के बाद भी उत्पीड़न जारी रखा। आठ महीने के बच्चे की मां अर्शिया को लगातार झग़ड़ों के कारण उसे हाल ही में ससुराल वालों ने माता-पिता के घर भेज दिया था। आर्शिया का कहना है कि, मैंने मेरे पति से आपसी समझ के साथ मामले को हल करने की कोशिश की थी। लेकिन उन्होंने भी मुझे नजरअंदाज किया और मेरे फोन कॉल तक उठाना बंद कर दिए। कुछ दिनों बाद, मुझे जिंदगी का सबसे बड़ा झटका लगा जब मेरे पति ने एक नोटिस भेजा जिसमें उन्होंने तलाक दे दिया। वे कहती हैं हालांकि मुझे अपने पति से नोटिस मिल चुका है, लेकिन मैं इसे स्वीकारने को तैयार नहीं हूं और मैं अलग होने के इस मनमाने ढंग के खिलाफ फैमिली कोर्ट में जाऊंगी। उनका कहना है कि, मैं मुस्लिम समुदाय की अन्य महिलाओं की मदद करूंगी जिसे इस तरह की प्रथाओं से जूझना पड़ता है।

Leave a comment