बालासाहेब के सिद्धातों के खिलाफ बन रहा है शिवसेना-एनसीपी-कांग्रेस का गठबंधन: आठवले

जागरूक टाइम्स 159 Nov 21, 2019

मुंबई (ईएमएस)। महाराष्ट्र में शिवसेना-एनसीपी और कांग्रेस के गठबंधन को लेकर केंद्रीय मंत्री रामदास आठवले ने कहा है कि यह गठबंधन अस्वाभाविक है, कितने दिन चलेगा पता नहीं। आरपीआई नेता ने कहा, शिवसेना बालासाहब ठाकरे का नाम आगे करके राजनीति कर रही है। यह गठबंधन बालासाहब के सिद्धांतों के खिलाफ बन रहा है। फिर भी उद्धव ठाकरे को सीएम पद के लिए शुभकामनाएं। आठवले ने कहा, मैनें जो फॉर्मूला दिया था उस पर बीजेपी के तरफ से कोई जवाब नहीं मिला। मेरे प्रयास अभी भी जारी है।

आठवले ने कहा कि शिवेसना नेता संजय राऊत से उनकी बुधवार को भी मुलाकात हुई थी, उन्होंने 3 साल बीजेपी और 2 साल शिवसेना के सीएम फार्मूला बताया था। शिवसेना या बीजेपी के साथ होने के सवाल पर आठवले ने कहा, 'मैं बीजेपी के साथ हूं, मैं शिवेसना गठबंधन के साथ नहीं जा रहा हूं, अन्य छोटे सहयोगी दलों की मुझे जानकारी नहीं है। महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर उधेड़बुन में लगी शिवसेना अब 'सेक्युलर' बनने तक को तैयार है।

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक हिंदुत्व का राग अलापने वाली शिवसेना के नेता संजय राउत ने यहां तक कह दिया कि शिवसेना तो पहले से ही सेक्युलर है। इसके पहले कांग्रेस ने शिवसेना के सामने उग्र हिंदुत्व को छोड़कर "सेक्युलर" होने की शर्त रखी थी। आपको बता दें कि बुधवार रात को एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार की शिवसेना चीफ उद्धव ठाकरे से बातचीत हुई। जिसमें पवार ने "कॉमन मिनिमम प्रोग्राम" के तहत शिवसेना से सेक्युलर रहने की बात की। शिवसेना नेता ने इसपर सहमति भी जता दी है। यानि सरकार बनाने के लिए शिवसेना किसी भी तरह के शर्त मानने से परहेज नहीं कर रही है।


Leave a comment