महाराष्ट्र में नए समीकरण बनता देखकर कई लोगों के पेट में शुरू हो गया दर्द : शिवसेना

जागरूक टाइम्स 326 Nov 16, 2019
मुंबई (ईएमएस)। महाराष्ट्र में सरकार गठन के लिए टल रही सियासी खींचतान अब समाधान की ओर अग्रसर होती दिख रही है। हालांकि, एक ओर जहां कांग्रेस, एनसीपी और शिवसेना की सरकार बनती दिख रही है, वहीं सरकार बनाने से एक बार इनकार कर चुकी भाजपा भी अब दावा कर रही है। ऐसे में पूर्व सहयोगी शिवसेना के निशाने पर पार्टी आ गई है। शिवसेना ने अपने मुखपत्र में भाजपा पर जमकर हमला बोला है। अखबार के संपादकीय में कहा गया है कि राज्य में नए समीकरण बनता देखकर कई लोगों के पेट में दर्द शुरू हो गया है। पार्टी ने कहा है, 'कौन वैसे सरकार बनाता है देखता हूं, अपरोक्ष रूप से इस प्रकार की भाषा और कृत्य किए जा रहे हैं। ऐसे शाप भी दिए जा रहे हैं कि अगर सरकार बन भी गई तो वैसे और कितने दिन टिकेगी देखते हैं। ऐसा ‘भविष्य’ भी बताया जा रहा है कि 6 महीने से ज्यादा सरकार नहीं टिकेगी। ये नया धंधा लाभदायक भले हो लेकिन ये अंधश्रद्धा कानून का उल्लंघन है।'

शिवसेना ने तीखे लहजे में कहा है, 'हम महाराष्ट्र के मालिक हैं और देश के बाप हैं, ऐसा किसी को लगता होगा तो वे इस मानसिकता से बाहर आएं। ये मानसिक अवस्था 105 वालों के स्वास्थ्य के लिए खतरनाक है। ऐसी स्थिति ज्यादा समय रही तो मानसिक संतुलन बिगड़ जाएगा और पागलपन की ओर यात्रा शुरू हो जाएगी।' सेना ने सवाल किया है कि जब पहले भाजपा सरकार बनाने से इनकार कर चुकी है तो अब कैसे बहुमत मिलने का विश्वास जता रही है। संपादकीय में कहा गया है- 'पूर्व मुख्यमंत्री फडणवीस और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने भाजपा की सरकार आने का दावा किया है लेकिन भाजपा राज्यपाल से मिलकर साफ कह चुकी है कि उनके पास बहुमत नहीं है। जो बहुमत उनके पास पहले नहीं था वह राष्ट्रपति शासन के बाद कैसे मिलेगा।'

Leave a comment