अप्रैल में हाने वाले चुनाव के‎ ‎लिये पार्टी ने अभी से शुरू की तैयारी

जागरूक टाइम्स 100 Oct 19, 2019

मुंबई (ईएमएस)। मुंबई मे विधानसभा चुनाव के ‎लिये सभी पार्टियों के पदाधिकारी, नवी मुंबई मनपा में नगरसेवक, पूर्व नगरसेवक और दूसरी पंक्ति के कार्यकर्ता अपने-अपने प्रभाग क्षेत्र में अपनी पार्टी के प्रत्याशियों का प्रचार करने में जी-जान से जुट गए हैं। बताया जा रहा है ‎कि इसमें विभिन्न दलों के मौजूदा नगरसेवक मनपा के अगले मनपा चुनाव में टिकट पाने की लालसा के साथ प्रचार कर रहे हैं। हालां‎कि नवी मुंबई मनपा का अगला सार्वजनिक चुनाव गर्मियों की छुट्टियों के शुरू होने से पहले संभवतः अप्रैल 2020 में होगा। ‎जिसके इसके लिए चुनावी आचार संहिता लगभग फरवरी या मार्च 2020 में लग सकती है।

हालां‎कि अपनी पार्टी या सहयोगी पार्टी के विधानसभा प्रत्याशी के चुनावी प्रचार के बहाने अपना स्वयं का भी चुनाव प्रचार कर रहे हैं। वहीं, बताया जा रहा है ‎कि विधानसभा चुनाव से ठीक पहले गणेश नाईक अपने सभी समर्थकों के साथ भाजपा में प्रवेश कर चुके हैं। ‎जिनमें नवी मुंबई मनपा में सत्तारूढ़ राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के 48 नगरसेवक भी शामिल हैं। इस कारण विधानसभा चुनाव प्रचार में सबसे अधिक परिश्रम भी इसी पार्टी के नगरसेवक कर रहे हैं। ‎जिसमें उनकी का‎‎शिशें है ‎कि उनके प्रभाग में गणेश नाईक को अधिक से अधिक मत दिलवा सकें, ताकि मनपा चुनाव में उनका टिकट पक्का हो सके। वहीं, इनके अलावा दूसरे स्थान पर शिवसेना के नगरसेवक बताये जा रहे हैं। जबकि नवी मुंबई की दोनों विधानसभा सीटों से भाजपा के प्रत्याशी भी चुनाव लड़ रहे हैं तो शिवसेना के करीब 3 दर्जन नगरसेवकों को अपने प्रभाग में प्रचार के लिए अपनी ताकत दिखाने के लिए कुछ खास नहीं करना है।

इस दौरान मनपा में भाजपा के नगरसेवकों को अपने-अपने प्रभाग के सभी मतदाताओं को भाजपा के ऐरोली से प्रत्याशी गणेश नाईक व बेलापुर से मंदा म्हात्रे के समर्थन में अधिक से अधिक वोट डलवाने का लक्ष्य दिया गया है। हालांकि नवी मुंबई में पार्टी स्तर पर इसकी पुष्टि किसी ने नहीं की है। हालां‎कि बताया गया ‎कि भाजपा, शिवसेना, राकनापा और कांग्रेस सहित अन्य सभी पार्टियों के बहुत से नगरसेवकों ने स्वयं ही अपने-अपने प्रभाग में अपने-अपने दल के प्रत्याशियों के पक्ष में अधिक से अधिक मतदान कराने का लक्ष्य निर्धारित कर लिया है। ‎फिलहाल, हाल ही मे होने वाले विधानसभा चुनावों की मतगणना 24 अक्टूबर को होनी है। बताया जा रहा है ‎कि उस दिन जब ईवीएम मशीनों से मतगणना शुरू होगी, तब यह स्पष्ट हो जाएगा कि किस नगरसेवक के प्रभाग से उनकी पार्टी या सहयोगी पार्टी के प्रत्याशी को कितने वोट मिले हैं। यही आंकड़े उस नगरसेवक को मनपा के अगले सार्वजनिक चुनाव में उनकी पार्टी से टिकट मिलवाने में सहायक साबित होंगे।


Leave a comment