भारत की ओर से चौकसी पर नहीं ‎किया कोई आग्रह: एंटिगा और बारबुडा सरकार

जागरूक टाइम्स 86 Jul 28, 2018

- भारत य‎दि आग्रह करेगा तो चौकसी पर जरुर करेंगे कार्रवाई 

मुंबई : एंटिगा और बारबुडा सरकार ने कहा कि वह भगोड़े हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी को डिपोर्ट करने के बारे में सोचती अगर भारत की तरफ से इसे लेकर कोई आग्रह किया गया होता क्योंकि वे खुद नहीं चाहते कि ऐसे लोग उनके देश में रहें। इसके साथ ही वहां के विदेश मंत्री ने इस बात की तरफ इशारा किया कि अगर भारत आग्रह करता है तो वह चोकसी पर जरूर कार्रवाई करेंगे।

मालूम हो ‎कि मेहुल ने एंटिगा की नागरिकता प्राप्त करने के प्रयास की पुष्टि खुद ही कर दी थी। एंटिगा और बारबुडा के विदेश मंत्री ई.पॉल चेट ग्रीन ने मेहुल चोकसी के एंटिगा छोड़ने की बात की जानकारी होने से इनकार किया। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि नई दिल्ली से चोकसी की गिरफ्तारी से संबंधित कोई सूचना नहीं आई है।

इसके अलावा विदेश मंत्री ई.पॉल ने कहा कि भारत और एंटिगा और बारबुडा के बीच काफी दोस्ताना रिश्ते हैं और वह ऐसा कुछ नहीं करना चाहेंगे जिससे इन दोनों देशों के रिश्ते को कोई नुकसान पहुंचे। पॉल ने इस बात से इनकार किया‎ ‎कि उनके देश में भगोड़ों को शरण दी जा रही है और वहां भगोड़े निवेश के बदले नागरिकता पॉलिसी का फायदा उठा रहे हैं। एंटिगा और बारबुडा सरकार फिलहाल मेहुल चोकसी के मामले को लेकर दबाव में चल रही है। वहां के विपक्ष ने सरकार की चुप्पी पर निशाना साधा था। साथ ही वहां के एक और नेता ने इस मामले की जांच की मांग की थी।

Leave a comment