रेल मार्ग से भी दूध रोकने के लिए पहुंचे हजारों कार्यकर्ता, आज से होगी दूध की किल्लत

जागरूक टाइम्स 181 Jul 19, 2018

मुंबई/पुणे : महाराष्ट्र में दूधबंदी आंदोलन तेज होता जा रहा है। दूध उत्पादकों की प्रति लीटर पांच रुपये की मांग को लेकर जारी आंदोलन गुरुवार को और तेज होने की संभावना है। आंदोलनकारियों ने सुबह से ही अपने बाल-बच्चों और अपने जानवरों के साथ महाराष्ट्र की सभी प्रमुख सड़कों पर 'चक्का जाम' करने की घोषणा की है। इससे मुंबई में दूध की किल्लत होने की आशंका है। इस आंदोलन के कारण पूरे राज्य में दूध का संकलन घटकर आधा रह गया है।

अहमदाबाद हाइवे जाम करके 'स्वाभिमानी' कार्यकर्ताओं ने सड़क मार्ग से गुजरात से आने वाला 16,000 लीटर दूध पहले ही रोक रखा है। बुधवार को किसान नेता राजू शेट्टी ने रेल मार्ग से मुंबई की तरफ आने वाले दूध के टैंकर रोकने का प्रयास किया। रेलवे और पुलिस प्रशासन ने हर हाल में दूध की आपूर्ति जारी रखने की मंशा जताई है, लेकिन तीन दिनों का दूध का स्टॉक खत्म होने को है। महाराष्ट्र के अलावा दूसरे राज्यों से दूध की आपूर्ति बाधित होने की आशंका अभी पूरी तरह दूर नहीं हुई है।

स्वाभिमानी संगठन के नेता शेट्टी ने बताया, हमने सभी किसानों से सड़क पर उतरने को कहा है। चूंकि सरकार कोई ध्यान नहीं दे रही, इसलिए आंदोलन उग्र होता जा रहा है। दूध का नुकसान हो रहा है। किसानों में गुस्सा है। उन्होंने दावा किया, बातचीत करने की बजाय पुलिस हमारे कार्यकर्ताओं को धमका रही है। करीब 8,000 कार्यकर्ताओं को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। दूध आंदोलनकारियों ने मुंबई सहित कई शहरों में दूध की आपूर्ति रोकने के हर संभव कोशिश की है, लेकिन पश्चिम रेलवे ने गुजरात से दूध लाकर मुंबईकरों के प्रति 'फर्ज' निभाने का काम किया है।

गुरुवार को पश्चिम रेलवे से एक मिल्क मेल मुंबई पहुंचने के बाद आंदोलनकारी रेलवे की सप्लाई चेन को भी काटने के लिए स्टेशन पहुंच गए। स्वाभिमानी शेतकरी संगठन के सांसद राजू शेट्टी डहाणू रोड स्टेशन पर नजर आए। रेलवे ने आंदोलनकारियों द्वारा रेलवे का परिचालन प्रभावित न होने के लिए पर्याप्त इंतजाम किए हैं।

मुख्य जनसंपर्क अधिकारी रविंद्र भाकर के अनुसार, मुंबई तक दूध पहुंचाने के लिए विशेष इंतजाम किए गए हैं। किसी भी प्रकार से लोगों की जरूरतों का सामान की सप्लाई बाधित नहीं होने देंगे। सड़क मार्ग से दूध की सप्लाइ प्रभावित होने के बाद गुजरात डेयरी डिवेलपमेंट कॉर्पोरेशन लि. ने रेलवे से आपूर्ति करने का अनुरोध किया था पश्चिम रेलवे ने घोषणा की थी कि 6 दिनों में 88 हजार लीटर दूध मुंबई लाया जाएगा।

Leave a comment