मोदी अच्छे जननेता हैं, पर अच्छे टीम लीडर नहीं, टूटा मतदाताओं का विश्वास : देसाई

जागरूक टाइम्स 157 Dec 21, 2018

मुंबई (ईएमएस)। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के प्रशंसक रहे प्रख्यात अर्थशास्त्री मेघनाद देसाई ने मोदी को, टीम को साथ नहीं ले कर चलने वाला खिलाड़ी करार दिया है। उन्होंने कहा कि उनकी कार्यप्रणाली से मतदाता निराश हो गए हैं। वह अब उनके मोदी के पक्ष में मतदान नहीं करेगा। मोदी ने जरूरत से ज्यादा वादे किए। साथ ही उन्होंने यह खामखयाली भी पाली कि मजबूत मंत्रिमंडल की बजाए वह कुछ नौकरशाहों की सहायता से पूरे देश पर शासन कर सकेंगे। /

ब्रिटिश नागरिक मेघनाद देसाई ने कहा यही प्रयोग उन्होंने गुजरात में मुख्यमंत्री रहने के दौरान किया था। देसाई ने कहा बहरहाल लोग उनसे बुरी तरह निराश हैं। लोगों के मन में कहीं न कहीं यह भाव है कि अच्छे दिन आखिर अब तक क्यों नहीं आए। मोदी के पास अवसर थे, लेकिन अपने सहयोगियों की टीम साथ नहीं ले कर चलने की उनकी आदत घातक साबित हुई।

उन्होंने कहा बेशक मोदी अच्छे नेता हैं, लेकिन टीम को साथ ले कर चलने वाले अच्छे खिलाड़ी नहीं हैं, वह टीम के नेता नहीं हैं। वह जन नेता तो हैं, लेकिन टीम लीडर नहीं हैं। उनके मंत्रिमंडल में अरुण जेटली और सुषमा स्वराज को छोड़ कर कोई भी अनुभवी नहीं है। देसाई कहते हैं कि इससे ठीक उलट मनमोहन सिंह की अगुवाई वाले यूपीए शासन में प्रणब मुखर्जी, अर्जुन सिंह, शरद पवार और पी चिदंबरम सहित कम से कम छह मंत्रियों के पास प्रधानमंत्री पद की योग्यता थी। उन्होंने कहा स्वयं मोदी को यह अनुमान नहीं था कि चीजें इतनी मुश्किल हो जाएगीं।

Leave a comment