मामूली विवाद पर दंपत्ति ने बुजुर्ग को चलती ट्रेन के आगे फेंका

जागरूक टाइम्स 85 May 24, 2018
मुंबई : मुंबई के मुलुंड स्टेशन पर एक दंपत्ति ने एक बुजुर्ग को चलती ट्रेन के आगे फेंक दिया. बताया गया है कि दंपत्ति से किसी बात को लेकर बुजुर्ग व्यक्ति का विवाद हुआ था. राजकीय रेलवे पुलिस (जीआरपी) ने मामला दर्ज कर लिया है. शुरुआती जाँच के आधार पर पुलिस ने इस मामले में धारा 302 के तहत हत्या का केस दर्ज किया है.अब स्टेशन पर लगे सीसीटीवी के आधार पर आरोपी दंपत्ति की पहचान की जा रही है. मिली जानकारी के अनुसार पेशे से लोहा व्यपारी दीपक पटवा (56) अपनी पत्नी और बेटे के साथ मुलुंड में रहते थे. वह पवई में काम करते थे. शनिवार दोपहर लगभग दो से ढाई बजे के बीच ट्रेन पकड़ने के लिए मुलुंड स्टेशन गए थे. प्लैटफॉर्म नंबर तीन पर एक दंपत्ति से मामूली बहस के दौरान उन लोगों ने दीपक को प्लेटफॉर्म से धक्का दे दिया जिससे वे प्लेटफॉर्म से नीचे पटरियों पर गिर गये और उसी वक़्त उस ट्रैक पर एक लोकल ट्रेन आई जिससे कटकर उनकी मौत हो गई. घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस भी मौके पर पहुंची और तत्काल दीपक को अस्पताल ले जाया गया, लेकिन वहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. पोस्टमॉर्टम करवाने के बाद परिजनों को शव सौंप दिया गया है. दीपक के दामाद अजीत शाह की तरफ से कुर्ला जीआरपी थाने में एफआईआर दर्ज कराई गई है. अजीत के मुताबिक वह पुलिसवालों के साथ सीसीटीवी फुटेज देखने गए थे. उनलोगों ने कैमरे चेक किए तो प्लैटफॉर्म नंबर तीन में लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज देखकर चौंक गए. यहां एफओबी के पास स्टेशन के दक्षिणी तरफ दीपक खड़े थे. तभी किसी बात को लेकर एक आदमी और औरत उनसे झगड़ा करने लगे और देखते ही देखते दंपत्ति ने उन्हें चलती ट्रेन के आगे धक्का दे दिया. आश्चर्य की बात यह है कि यह पूरी घटना मात्र एक मिनट के अंदर घटी. पुलिस दंपत्ति की पहचान के लिए स्टेशन में लगे दूसरे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज भी चेक कर रही है. पुलिस अधिकारी ने बताया कि फुटेज में जोड़े की उम्र लगभग 30 के आसपास की लग रही है. पुरुष ने सफेद शर्ट और काले रंग की पैंट पहनी है. उनकी लंबाई लगभग 5.5 से 5.7 फीट की लग रही है. वहीं महिला लगभग पांच फीट लंबी नजर आ रही है. उसने भी काले रंग की पैंट और सफेद शर्ट पहन रखी है. वह इस बात का पता कर रहे हैं कि दोनों के बीच किस बात को लेकर झगड़ा हुआ था. पुलिस ने दीपक पटवा के परिजनों और रिश्तेदारों को फुटेज दिखाई, लेकिन उनमें से कोई भी उस जोड़े को नहीं पहचानता है. पुलिस ने बताया कि फुटेज से यह साफ है कि दीपक किसी हादसे के शिकार नहीं हुए हैं. फुटेज में जोड़ा उन्हें धक्का देता साफ नजर आ रहा है. आरोपी जानते थी कि ट्रेन आने वाली है और दीपक को धक्का देने से वह ट्रेन के नीचे आ सकते हैं. फिलहाल पुलिस मामले की पड़ताल कर रही है. दीपक के कॉल रिकॉर्ड्स भी खंगाले जा रहे हैं.

Leave a comment