टाटा समूह के मुख्यालय में बना कुत्तों का घर

जागरूक टाइम्स 98 Aug 8, 2018

- खिलौनों, डॉग बिस्किट और ताज होटल की किचन से प्रतिदिन आने वाले उबले हुए मीट की भी व्यवस्था

मुंबई । टाटा समूह के मुख्यालय बाम्बे हाउस में रेनोवेशन के बाद पिछले सप्ताह दोबारा खुलने पर एक अनूठी सुविधा पर लोगों का सबसे अधिक ध्यान गया। यह बॉम्बे हाउस में बना केनेल या कुत्तों का घर था। टाटा ग्रुप के पूर्व चेयरमैन रतन टाटा का कुत्तों के साथ लगाव कोई छिपी बात नहीं है और इसी वजह से बॉम्बे हाउस कई वर्षों से बहुत से आवारा कुत्तों के रहने का ठिकाना था।

ये कुत्ते अक्सर रिसेप्शन एरिया या सिक्यॉरिटी गार्ड के केबिन में सोते दिखते थे, लेकिन अब बॉम्बे हाउस में इनके लिए अलग से कमरा है। केनेल का डिजाइन इस तरह से तैयार किया गया है कि इसमें कुत्ते अपनी मर्जी से कभी भी आ सकते हैं या बाहर निकल सकते हैं। इसमें उनके लिए खिलौनों, डॉग बिस्किट और ताज होटल की किचन से प्रतिदिन आने वाले उबले हुए मीट की भी व्यवस्था है।

जानवरों के लिए काम करने वाली संस्था सेव आवर स्ट्रेज ने फेसबुक पर कुत्तों के नए घर की तस्वीर शेयर की है। केनेल में ग्राउंड फ्लोर के लाउंज एरिया से रास्ते पहुंचा जा सकता है। इसके अंदर चेरी रंग का पेंट किया गया है। इसमें दो बड़ी खिड़कियां हैं जिनसे बाहर की झलक मिलती है और खुलापन लगता है।

अभी इसमें आठ कुत्ते बसे हैं। इनमें से शीबा (11-12 वर्ष) सबसे पुरानी है और डेढ़ महीने की मुन्नी सबसे युवा सदस्य है। इसके अलावा इसमें गोवा, जैकाल, बुशी, जूली और सिंबा भी रहते हैं। किसी भी अन्य घर की तरह इसमें रहने वालों के मिजाज भी अलग हैं। इन कुत्तों की मेडिकल जरूरतों का ख्याल भी रखा जाता है।

Leave a comment