लाल बत्ती ने बचाई सैकड़ों ‎जिंदगी, चश्मदीदों ने कहा- पुल लोगों के साथ ढह गया

जागरूक टाइम्स 161 Mar 15, 2019

मुंबई(ईएमएस)। ट्रैफिक की लाल बत्ती न ‎‎‎सिर्फ दुर्घटना रोकती है बल्कि चालकों की जान की किस प्रकार रक्षा कर सकती है, इस बात का अंदाजा मुंबई में पुल ढहने की दुर्घटना से लगाया जा सकता है। जब यहां गुरुवार को पैदल पार पुल ढहने के दौरान ट्रैफिक सिग्नल पर लाल बत्ती पर रूके कई कार और अन्य वाहन चालक इस हादसे का शिकार होने से बच गए। लाल बत्ती नहीं हुई होती तो मोटर चालक सीएसएमटी रेलवे स्टेशन के पास पुल ढहने के दौरान उसके नीचे से गुजर रहे होते और यह हादसा और भी भयावह हो जाता।

यह पुल भीड़-भाड़ वाले छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस रेलवे स्टेशन को आजाद मैदान पुलिस थाना से जोड़ता था। दुर्घटना के वक्त सिग्नल पर इंतजार कर रहे एक प्रत्यक्षदर्शी ने कहा कि हम सब सिग्नल पर बेसब्री से इंतजार कर रहे थे क्योंकि बत्ती लाल थी। बत्ती हरी होने से पहले पुल लोगों समेत ढह गया। अगर बत्ती पहले हरी हो गई होती तो स्थिति और भयावह हो सकती थी।

उसने कहा कि यह ऐसा वक्त था जब पूरी मुंबई घर जाने के लिए सीएसएमी भागती है। हम भी घर जल्दी पहुंचने के ‎लिए प्रयासरत थे लेकिन अब मैं राहत की सांस ले रहा हूं कि बत्ती लाल थी। अन्यथा मैं भी घायल हो गया होता। दुर्घटना के वक्त एक टैक्सी चालक पुल के पास था और वह किसी तरह से बच पाया। हालांकि उसकी टैक्सी क्षतिग्रस्त हो गई। उसके पीछे चल रहे वाहन समय से रुक गए और बड़ा हादसा होने से टल गया । अधिकारियों के अनुसार इस दुर्घटना में कम से कम पांच लोगों की मौत हो गई और 30 से ज्यादा घायल हुए हैं।

Leave a comment