मुंबई के मशहूर डिब्बेवाले अब खाने के साथ डिलीवर कर रहे कुरियर और पार्सल

जागरूक टाइम्स 70 Jul 19, 2018

मुंबई : मुंबई में डिब्बेवालों का इतिहास 126 साल का रहा है. ये डब्बेवाले ज्यादातर लोकल ट्रेन और साइकिल के जरिए टिफिन बाक्स की डिलीवरी करते हैं. अब समय पर मुंबई में खाना पहुंचाने के लिए मशहूर डिब्बेवाले आप तक कुरियर और पार्सल भी पहुंचाएंगे. ये सेवा कल से शुरू हो गई है. दरअसल डिब्बेवालों की आमदनी बढ़ाने के लिए कुरियर और पार्सल की डिलीवर की सेवा शुरू की गई है ताकि वह टिफिन बाक्स पहुंचाने के बाद खाली वक्त में कुरियर और पार्सल डिलीवरी कर सकें.

आपको जानकर ये हैरानी होगी कि ‘पेपर्स एंड पार्सल्स’ नाम की ये सर्विस तिलक मेहता नाम के 13 साल के बच्चे ने शुरु की है. हजारों लोगों तक कुरियर और पार्सल पहुंचाने के लिए तिलक ने एक मोबाइल ऐप बनाया है, जिसके ज़रिए घरों तक खाना पहुंचना और भी आसान हो जायेगा. इस बात का ख्याल तिलक को तब आया जब वह अपनी किताबे अपने चाचा के घर भूल आया था.

किताब कूरियर से मिलने के बाद उसे ख्याल आया की कुरियर कितनी आसानी से किसी भी चीज़ को एक जगह से दूसरी जगह पहुंचाता है. इस घटना के बाद तिलक ने जब राह चलते एक डब्बेवाले से मिलकर उनकी तकलीफों को जाना, तब उसने कूरियर और डब्बेवालों की समस्या को एक साथ जोड़ने का फैसला कर लिया.

- मोबाइल एप से इ सकेंगे सर्विस का लाभ
‘पेपर्स एंड पार्सल्स’ नाम की इस मोबाइल एप का ज़्यादा से ज़्यादा लोग इस्तेमाल कर सकेंगे. इसे डाउनलोड करके कोई भी व्यक्ति तुरंत कुरियर भेज सकेगा. जानकारी डालते ही कुछ ही देर में पार्सल या कुरियर लेने गांधी टोपी पहने डिब्बेवाला आपके दरवाजे पर आ जाएगा. इससे डब्बेवालों को फायदा ही होगा, क्यूंकि वह अपने रोज़ के काम के साथ ही अपने खाली समय में यह सर्विस देंगे ताकि वे दिन में ज्यादा से ज्यादा मुनाफा कमा पाए.

Leave a comment