शीना बोरा मर्डर केस : इंद्राणी नहीं चाहती थी बेटी की हत्या के बाद कोई फ्लैट के अंदर आए

जागरूक टाइम्स 72 Jan 12, 2019

मुंबई (ईएमएस)। शीना बोरा हत्याकांड की मुख्य आरोपी इंद्राणी मुखर्जी नहीं चाहती थी कि उनके मुंबई के वर्ली स्थित फ्लैट में 24 अप्रैल से लेकर 26 अप्रैल 2012 तक कोई अंदर आए। कोर्ट में मैनेजर ने बताया कि ये वो समय था जिस दौरान कथित तौर पर इंद्राणी मुखर्जी ने अपनी बेटी शीना की हत्या की और अपने बेटे मिखाइल की हत्या की साजिश बना रही थी।

बता दें ‎कि शीना बोरा का 24 अप्रैल 2012 को कत्ल किया गया और उसकी लाश को पहले सूटकेस के अंदर बिल्डिंग की गैराज में छिपाकर रखा गया था। सीबीआई के स्पेशल पब्लिक प्रॉसिक्यूटर भारत बदामी और कविता पाटिल ने वर्ली की मार्लो बिल्डिंग के मैनेजर मधुकर खिलजी से 28वें गवाह के तौर पर पूछताछ की। इसमें जिसमें इंद्राणी मुखर्जी और उनके पति पीटर मुखर्जी रहते थे।

कोर्ट में मैनेजर ने बताया कि मुखर्जी ने उनसे और अन्य लोगों से बोरा को अपनी बहन बताया था। उन्होंने कोर्ट में कहा- 23 अप्रैल 2012 को इंद्राणी मुखर्जी ने मुझे यह निर्देश दिए कि उनकी अनुप‎स्थि‎ति में वे फ्लैट के अंदर किसी को न आने दें। उन्होंने यह भी बताया कि राहुल मुखर्जी (पीटर के बेटे) को भी 23 अप्रैल से अगले तीन दिनों के लिए अंदर न आने को कहा।

Leave a comment