महाराष्ट्र में दूध की कीमत 25 रुपये प्रति लीटर घोषित, उत्पादकों ने आंदोलन वापस लिया

जागरूक टाइम्स 123 Jul 20, 2018

मुंबई : राज्य के दुग्ध उत्पादक किसानों से गाय का दूध खरीदने वाले दुग्ध संघों को अब उन्हें कम से कम 25 रुपये प्रति लीटर का भाव देना अनिवार्य होगा. महाराष्ट्र सरकार की ओर से दूध के लिए 25 रुपये प्रति लीटर कीमत की घोषणा के बाद राज्य के दूध उत्पादकों ने अपनी चार दिवसीय हड़ताल समाप्त कर दी है.

इस आंदोलन का नेतृत्व कर रहे स्वाभिमानी शेतकरी संघटना के नेता राजू शेट्टी ने गुरुवार रात इसकी घोषणा की. सांसद शेट्टी ने नागपुर में मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस से उनके आवास पर मुलाकात के बाद यह बयान दिया. बता दें कि डेयरी किसानों के संगठनों ने दूध की खरीद कीमत बढ़ाने की मांग की थी जिसके बाद सरकार ने 21 जुलाई से दूध आपूर्तिकर्ताओं को प्रति लीटर 25 रुपये देने की घोषणा की.

इससे पहले मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस ने बुधवार को राज्य विधानसभा में ऐलान किया था कि इस हड़ताल के दौरान दुग्ध उत्पादकों के खिलाफ दर्ज मामले वापस लिए जाएंगे. फड़णवीस ने हालांकि स्पष्ट किया था कि ऐसे लोगों पर दर्ज मामले वापस नहीं लिए जाएंगे जो दुग्ध उत्पादक तो नहीं हैं लेकिन उन पर हड़ताल के दौरान हिंसा में संलिप्त होने के आरोप हैं. गौरतलब हो कि दुग्ध हड़ताल करने वालों की मुख्य मांग किसानों को गाय के दूध के दूध पर पांच रुपये प्रति लीटर अनुदान देने की थी. यह अनुदान सीधे किसानों के खाते में जमा कराए जाने की मांग की जा रही थी.

लेकिन हर किसान के खाते में पैसा जमा कराना सरकार के लिए तत्काल संभव नहीं था. इसलिए सरकार ने बीच का रास्ता निकाला कि वह पांच रुपये प्रति लीटर के हिसाब से दुग्ध संकलन संघों को अनुदान देगी और दुग्ध संघ यह पैसा किसानों को देंगे. हालांकि सरकार के इस फैसले से हर महीने सरकारी खजाने पर 75 हजार करोड़ रुपये का बोझ पड़ने की बात कही जा रही है.


Leave a comment