माल्या के खिलाफ गैर-जमानती वारंट जारी

जागरूक टाइम्स 169 Jun 21, 2018

मुंबई । मुंबई की विशेष पीएमएलए कोर्ट ने बुधवार को फरार शराब कारोबारी विजय माल्या के खिलाफ एक गैरजमानती वॉरेंट जारी किया है। कोर्ट ने हाल ही में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा दायर चार्जशीट का संज्ञान लेते हुए यह आदेश जारी किया है। ईडी ने माल्या, उनकी कंपनियों किंगफ़िशर एयरलाइन (केएफए) और यूनाइटेड ब्रेवरीज होल्डिंग लिमिटेड (यूबीएचएल) और अन्य के खिलाफ प्रिवेन्शन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट (पीएमएलए) के तहत नया आरोप पत्र दायर किया है।

 इसी आरोप पत्र का संज्ञान लेते हुए कोर्ट ने बुधवार को माल्या के खिलाफ गिरफ्तारी के आदेश जारी कर दिए हैं। ईडी द्वारा दायर चार्जशीट में माल्या के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग और 13 बैंको के समूह के साथ करीब 6000 करोड़ रुपए की धोखधड़ी का आरोप लगाया गया है। ईडी के वकीलों ने याचिका दी थी कि अदालत माल्या के खिलाफ दायर नए आरोप पत्र का संज्ञान ले। इसके साथ ही ईडी ने कोर्ट से मांग की कि विजय माल्या कई समन के बाद भी जाँच के लिए पेश नहीं हो रहा है। इस लिए उसके खिलाफ गिरफ्तारी वॉरेंट जारी किया जाए।

कोर्ट ने ईडी की इस याचिका को मंजूर कर लिया और माल्या की गिरफ्तारी के आदेश दे दिए। साथ ही कोर्ट ने माल्या की कंपनी किंगफ़िशर एयरलाइन (केएफए) और यूनाइटेड ब्रेवरीज होल्डिंग लिमिटेड (यूबीएचएल) को भी समन जारी किया है। सभी को 30 जुलाई को कोर्ट में हाज़िर रहने के आदेश दिए गए हैं। 30 जुलाई को इस मामले में अगली सुनवाई की जाएगी। बता दें ईडी ने पिछले साल माल्या के खिलाफ 900 करोड़ रुपए के आईडीबीआई बैंक-किंगफिशर एयरलाइंस लोन फ्रॉड मामले में अपना पहला आरोप पत्र दायर किया था।

गौरतलब है माल्या 2016 में ही भारत से विदेश चला गया था। तब उसने कहा था कि वो अपने बच्चों के पास जा रहा है। हालांकि, बाद में उसने भारत लौटने से इनकार कर दिया। भारत की अदालत विजय माल्या को भगोड़ा घोषित कर चुकी है। भारत में विजय माल्या के खिलाफ धोखाधड़ी और मनी लांड्रिंग को लेकर मुकदमे दर्ज हैं, साथ ही माल्या पर ब्रिटेन में भी कई मुकदमे चल रहे हैं।

Leave a comment