बारिश ने रोकी मुंबई की रफ्तार - रेल, सड़क और हवाई यातायात बाधित

जागरूक टाइम्स 191 Jul 10, 2018

- रेल, सड़क और हवाई यातायात बाधित

- ९० ट्रेनें रद्द, लंबी दूरी की ट्रेनों पर असर

- मुंबई में 21 जगह पर शॉर्ट सर्किट

- अगले २४ घंटे में तेज बारिश का अनुमान

मुंबई । विगत चार दिनों से जारी भारी बारिश की वजह से मायानगरी मुंबई की रफ्तार थम सी गई है. मुंबई के कई इलाके में पीछे २४ घंटे से ज़ोरदार बारिश होने से आलम ये हुआ कि सड़कें नदियों की तरह दिख रही हैं. लोगों के घरों में पानी घुस गया, मनपा के कर्मचारी सड़कों पर भरे पानी को निकालते नज़र आये. पानी से लबालब सड़कों ने क्या अमीर और क्या गरीब सभी का जीवन अस्त-व्यस्त कर दिया है.

परेल, दादर, हिंदमाता, माटुंगा, किंग सर्कल, सायन, वडाला और चेंबुर इलाके में तेज बारिश और जलभराव से जनजीवन अस्त व्यस्त है. दूसरी तरफ मूसलाधार बारिश के बाद मुंबई की प्यास बुझाने वाली पवई तथा तुलसी लेक ओवरफ्लो हो गई है. लगातार हो रही मूसलाधार बारिश के चलते रेल सड़क और हवाई यातायात पर इसका व्यापक असर पड़ा है.

बारिश के चलते मुंबई में 21 जगह पर शॉर्ट सर्किट होने की खबर है. बारिश ने मुंबई की सड़कों को स्विमिंग पूल में तब्दील कर दिया है और इस जलभराव के कारण सड़कों पर लगने वाले जाम ने सभी की परेशानियों को बढ़ा दिया है. बारिश के कारण आम आदमी के रोजमर्रा के काम करने में भी दिक्कते आ रही हैं. सड़कों पर लबालब पानी भरा है, जो गड्ढे और मेनहोल सड़क पर मौजूद हैं वो दुर्घटना का सबब बन गए हैं.

सड़कों पर पानी भर जाने की वजह से ट्रैफिक धीमी गति से चल रहा है. कई जगहों पर बीच सड़क पर गाड़ियां खराब हो जाने से लंबा ट्रैफिक जाम लग गया है. मुंबई में सड़को पर कमर तक भरे पानी में लोग पैदल चलने को मजूबर हैं. वेस्टर्न एक्सप्रेस-वे हाईवे पर भी लंबा जाम लग गया है. भारी बारिश के चलते मंगलवार को भी स्कूल और कॉलेज रहे. लगातार हो रही बारिश के चलते मुंबई में नदी नाले उफान पर हैं.

मुंबई के आस पास के इलाकों नालासोपारा, वसई, पालघर और विरार में भी जगह जगह जल भराव है. मुंबई-अहमदाबाद हाईवे पर भी बारिश की मार पड़ी है, हाईवे पर 5 किलोमीटर लंबा जाम लग गया. मौसम विभाग ने अगले 24 घंटे में तेज बारिश का अनुमान जताया है. पिछले चार दिन से हर रोज़ 100 मिलीमीटर से ज़्यादा बारिश हुई है, पिछले 24 घंटों में ही 200 मिमी के करीब बारिश रिकॉर्ड की गई.

मंबई के परेल और एलफिस्टन स्टेशन को जोड़ने वाले रास्ते पर यात्री घुटने भर पानी में चल रहे है. इस इलाके में दो रेलवे स्टेशन हैं और साथ ही यहां केईएम, वाडिया और टाटा जैसे बड़े-बड़े अस्पताल भी हैं, इसलिये यहां बड़ी संख्या में लोग आते हैं. फिलहाल परेल और दादर इलाके में बारिश बंद हुई है. इसके साथ ही हिंदमाता और दादर में भरा पानी भी कम हुआ है. इन इलाकों में अब ट्रैफिक भी सामान्य है.

दादर, हिंदमाता, मुलुंड और घाटकोपर में बारिश थमी, लेकिन आफत कम नहीं हुयी है. मुंबई सहित कल्याण, ठाणे, नवी मुंबई में मॉनसून जमकर बरस रहा है. मुंबई के पवई में हुई तेज बारिश के बाद पवई लेक ओवर फ्लो होने से सड़कों पर भी पानी भर गया है. जबकि बारिश से वडाला के रिहायशी इलाकों में पानी भरा हुआ है. वहीं वडाला स्टेशन पर भी रेल पटरियां पानी में डूबी हुई हैं. सांताक्रूज इलाके की हालत भी वैसी ही है.

सड़कों पर जगह-जगह पानी भरा हुआ है. सांताक्रूज वो इलाका है जहां वीआईपी लोग रहते हैं बड़ी हस्तियों का घर यहीं पर है.वहीं प्रशासन के अलर्ट के बाद कम ही लोग बारिश में घरों से बाहर निकल रहे हैं. उधर मुंबई डिब्बवाला संगठन के प्रवक्ता सुभाष तालेकर ने कहा, ‘‘शहर भर में पानी भरा होने के कारण हमने आज टिफिन इकट्ठा नहीं किए.

घुटनों तक भरे पानी के बीच साइकिल चलाना हमारे लोगों के लिए मुश्किल है.’’ महीने के शुरुआती 10 दिन में ही मुंबई ने 754 मिलीमीटर बारिश हुई, जबकि पूरे जुलाई महीने में 840 मिलीमीटर बारिश होती है. अगले 24 घंटों में बारिश जारी रहेगी जिससे 840 मिमी पीछे छूट सकता है.

- ट्रेनों और हवाई जहाजों पर भी असर
भारी बारिश के चलते ट्रैक पर पानी भरने की वजह से लोकल सेवा बुरी तरह से प्रभावित हुई है. यही नहीं कई ट्रेनें देरी से चल रही हैं तो कई ट्रेनों को कैंसिल कर दिया गया है. सिर्फ रेल सेवा नहीं विमान सेवा भी प्रभावित हुई है. फ्लाइट्स को कैंसिल कर दिया गया है, जबकि कई विमान देरी से चल रहे हैं. खराब मौसम के चलते कई एयरलाइन ने एहतियातन अपनी फ्लाइट्स को कैंसिल किया है. रनवे पर फिसलन होने के चलते विमानों की लैंडिंग में भी परेशानी आ रही है. दरअसल, मुंबई में लगातार हो रही बारिश ने हाल बेहाल कर दिया है. पश्चिमी रेलवे की उपनगरीय सेवाओं को रोक दिया गया है.

रेलवे के एक अधिकारी ने बताया कि रेल की पटरियों में पानी भर गया है और यात्रियों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए रेल सेवाएं तब तक रोक दी गईं हैं, जब तक कि पटरियों पर पानी कम नहीं हो जाता. वहीं चर्चगेट और बोरिवली के बीच सेवाएं सामान्य हैं. उधर मध्य रेल की लोकल 1 घंटे की देरी से चल रही है. इस बीच खबर है कि ९० लोकल ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है. उधर बारिश के बाद मुंबई-अहमदाबाद शताब्दी की रफ्तार थम गई. ट्रेन नालासोपारा स्टेशन के पास रोकनी पड़ी.

नालासोपारा के पास 12928 वडोदरा एक्सप्रेस ट्रेन फंस गई थी. ट्रैक पानी में डूबने की वजह से यात्रियों से भरी ट्रेन नालासोपारा और विरार के बीच फंसी हुई थी. एनडीआरएफ और कोस्ट गार्ड की मदद से सभी यात्रियों को ट्रेन से सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया है. जिसके बाद यात्रियों को बस के जरिये दूसरे स्टेशन पर पहुंचाया गया. दरअसल नालासोपारा में ट्रेन की पटरियों पर ४०० एमएम बारिश का पानी जमा हो गया है. जिस वजह से मुंबई पहुंचने वाली तमाम ट्रेनें बाधित हुई हैं. लोग जहां-तहां फंसे हैं और एक तरह से मुंबई की रफ्तार थम गई है. रेलवे के मुताबिक 20 ट्रेनों की दूरियां कम कर दी गई हैं. जबकि 6 डाउन और 7 अप ट्रेनें रद्द कर दी गई हैं. रद्द की गईं ट्रेनों में मुंबई-अहमदाबाद शताब्दी एक्सप्रेस भी है. वहीं 12951 मुंबई-दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस के टाइम में बदलाव कर दिया गया है, अब ट्रेन रात 8 बजे चलेगी. मुंबई से दूसरे राज्यों में जाने वाली 6 ट्रेनें के रुट डायवर्ट भी किए गए हैं.

- क्या अमीर और क्या गरीब सभी का जीवन अस्त-व्यस्त
मुंबई हो रही मूसलाधार बारिश ने क्या अमीर और क्या गरीब सभी का जीवन अस्त-व्यस्त कर दिया है. आम से लेकर खास तक हर कोई बेहाल है. भारतीय जनता पार्टी के मशहूर प्रवक्ता संबित पात्रा को मुंबई की बारिश ने जूते उतारने पर मजबूर कर दिया. मुंबई में चार दिन से तेज बारिश हो रही है, जिसके चलते ज्यादातर सड़कों पर पानी भरा हुआ है.

यातायात पूरी तरह प्रभावित है, जिसने सभी को पानी में आधे-आधे डूबते हुए अपनी मंजिलों तक पहुंचने पर मजबूर कर दिया है. बीजेपी के प्रवक्ता संबित पात्रा को भी इससे जूझना पड़ा. राज्य में भले ही बीजेपी की सरकार हो, लेकिन पार्टी के दफ्तर तक पहुंचने के लिए बीजेपी प्रवक्ता को अपने जूते उतारने पड़े. संबित पात्रा की जो तस्वीर सामने आई है, उसमें वह एक हाथ में छतरी और दूसरे हाथ में अपने जूते लिए हुए नजर आ रहे हैं.

रेन-कोट पहने संबित पात्रा को मुंबई में पार्टी दफ्तर तक पहुंचने के लिए इस समस्या से जूझना पड़ा. इसी बीच अब बॉलीवुड सेलेब्स का गुस्सा भी सोशल मीडिया के जरिए बाहर आ रहा है. मुंबई की पानी से भरी सड़कों ने फिल्म स्टार्स की भी नींद उड़ा रखी है. हमेशा से अपने बेबाक बयानों के लिए जानी जानें वाली स्वरा भास्कर ने ट्वीट करते हुए कहा, 'मैं अपने सितारों का शुक्रिया अदा करना चाहूंगी क्योंकि मुंबई की इस बारिश में मैं अपनी कार में हू और भीगी नहीं हूं. लेकिन मैं मुंबई के लोगों का बहुत सम्मान करना चाहती हूं, क्योंकि वो अपने काम को रोकने के लिए बारिश को एक बहाना नहीं बनने देते.'

- मुंबई हाईकोर्ट ने लगाई फटकार
मुंबई हाईकोर्ट ने बारिश में मुंबई के हाल पर नाराज़गी जताते हुए महानगरपालिका और रेलवे को कड़ी फटकार लगाई है. हाईकोर्ट ने कहा मनपा और रेलवे दोनों ही बारिश के लिए तैयारी नहीं करते. हाईकोर्ट ने रेलवे से कहा कि निचले इलाकों में रेलवे ट्रैक की ऊंचाई मॉनसून के पहले क्यों नहीं बढ़ाई जाती? हर साल उन्हीं रेलवे ट्रैक पर पानी भरता है तो सबक लेते हुए कार्रवाई क्यों नहीं होती? हाईकोर्ट ने कहा कि मुंबई की लोकल सेवा के लिए अलग से रेलवे बोर्ड क्यों नहीं बनाया जाता, जिससे हरबार दिल्ली से इजाजत मांगने की जरूरत न पड़े.

- भारी बारिश का अलर्ट
भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने 12 जुलाई तक भारी बारिश का अनुमान जताया है. बुधवार को भी भारी बारिश का अलर्ट है. मौसम विभाग ने हाई टाइड की चेतावनी जारी कर दी है. जुहू बीच पर तेज लहरों से दूर रहने की सलाह जारी की गई है, जो बीच सैलानियों और मुंबई वासियों से खचाखच भरा रहता था वो अब सूनसान नजर आ रहा है. मछुआरों को भी समुद्र से दूर रहने की एडवाइज़री जारी कर दी गई है.

- सरकार ने दी सफाई
बारिश से बेहाल मुंबई को लेकर मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने रिपोर्ट मांगी है. साथ ही सीएम ने शिक्षा मंत्री विनोद तावड़े को जरूरी निर्देश भी दिए हैं. मुख्यमंत्री ने कहा है कि मुंबई में स्कूल बंद करने पर शिक्षा मंत्री जल्दी फैसला लेंगे. मुख्यमंत्री फडणवीस ने कहा है कि मुंबई की सड़कों से पानी निकालने के लिए 150 पंप लगाए गए हैं.

जबकि शिक्षा मंत्री विनोद तावड़े ने कहा है कि पूरी मुंबई में पानी जमा नहीं हुआ है. सिर्फ 10 से 12 जगहों पर पानी भरा है. स्कूलों के हैड मास्टर से जानकारी ली गई हैं. शिक्षा मंत्री तावड़े ने कहा है कि ऐसी बारिश नहीं है कि स्कूल को बंद किया जा सके. सरकार ने सभी सरकारी स्कूलों को खुले रखने का फैसला किया है.

मुंबई से सटे वसई-विरार और नालासोपारा इलाके में तेज बारिश के बाद कमर से ऊपर तक पानी भर गया है, इतने पानी के बीच बच्चे जान जोखिम में डालते हुए पानी में कूद रहे हैं. भारी बारिश के चलते इलाकों में जलभराव की स्थिति पैदा हो गई है. सड़कें, गलियां, सोसाइटी सब जगह बारिश का पानी भरा हुआ है. वहीं, मीरा रोड और वसई इलाके में भारी बरसात के बाद घरों में पानी घुस गया है. 150 से ज्यादा घरों के 400 लोग प्रभावित हैं.

मुंबई के दहिसर इलाक़े में भारी बारिश की वजह से एनजी पार्क परिसर में तीन घर ढह गए. एक दीवार एक मकान पर गिरी, उसके बाद मकान दूसरे मकान पर और फिर दूसरा मकान तीसरे मकान पर.. इस तरह एक के बाद एक तीन घर तबाह हो गए. ग़नीमत है कि हादसे में कोई ज़ख़्मी नहीं हुआ है. स्थानीय निवासियों के मुताबिक घटना रात 10 बजे करीब की बताई जा रही है.

मौके पर पहुंची दमकल विभाग और एनडीआरएफ की टीम मलबा हटाने का काम की.. आपको बता दें रविवार को कुर्ला इलाके के 4 मंजिला इमारत का कुछ हिस्सा गिर गया था और सोमवार दोपहर सैंड हर्स रोड रेलवे स्टेशन के पास भी ब्रिज का कुछ हिस्सा धराशायी हो गया. जिस तरह से मुंबई में लगातार बारिश हो रही है और एक बाद एक घटनाएं सामने आ रही है. अगर ऐसे ही चलता रहा तो आने वाले समय मे मुंबईकरों को कड़ी मशक्कत का सामना करना पड़ सकता है.

- 90 ट्रेनें ने रद्द, 'डिब्बावाला' ने रोकी सेवाएं

मुंबई में भारी बारिश के चलते पटरियों में पानी भर जाने से 90 लोकल ट्रेन रद्द कर दी गई हैं वहीं कुछ 10 से 15 मिनट की देरी से चल रही हैं. मुंबई में कल रात से भारी बारिश हो रही है जिसकी वजह से जगह पानी भर गया है.

मौसम विभाग की ओर से जारी भारी बारिश चेतावनी के बाद से 'डिब्बावालों' ने अपनी सेवाएं रोक दी हैं. मंगवार को मुंबई में सामान्य से 5 गुना ज्यादा बारिश दर्ज की गई है. इस मौसम में एक दिन में हुई यह सर्वाधिक बारिश है जिसके कारण कई सड़कों और गलियों में पानी भर गया. लोगों को घुटनों तक भरे पानी से गुजरना पड़ा.  

- सायन इलाके में भरा पानी

मुंबई के सायन इलाके में भारी जलजमाव है. चारो तरफ सिर्फ पानी ही पानी दिखाई दे रहा है. हालांकि इन इलाकों में अभी किसी के घरों में पानी घुसने की समस्या पैदा नहीं हुई है, लेकिन पूरे इलाके की सड़कें पानी मे ज़रूर डूब गई हैं. हालांकि बीएमसी ने जगह-जगह पानी निकालने के लिए बड़े-बड़े मोटरों को लगाया है.

बावजूद इसके मुंबई हर साल की तरह इस साल भी पानी पानी हो गया है. सांताक्रूज़ इलाके में भी हालात खराब हैं. जिधर नज़र जाएगा सिर्फ पानी ही पानी पड़ रहा है. जलजमाव के कारण इस जगह पर पानी भर गया है.

Leave a comment