डीजल पेट्रोल भी वायदा कारोबार में शामिल?

जागरूक टाइम्स 49 Aug 6, 2018

मुंबई : बाजार नियामक आयोग सेबी पेट्रोल और डीजल को वायदा कारोबार के लिए मंजूरी देने की प्रक्रिया अंतिम चरणों में हैं। सेबी से अनुमति मिल जाने के बाद देश के 7000 से ज्यादा पेट्रोल पंप लाखों छोटे बड़े ट्रांसपोर्टर एवं डीजल पेट्रोल की खपत करने वाले लोग वायदा कारोबार के माध्यम से डीजल और पेट्रोल खरीद और बेच सकेंगे।

देश के तीसरे सबसे बड़े जिंस एक्सचेंज आईसीईएक्स ने सेबी से पेट्रोल और डीजल के वायदा कारोबार की अनुमति मांगी थी। उल्लेखनीय है आयल कंपनियां रोजाना डीजल एवं पेट्रोल की कीमतें तय करती हैं। वायदा कारोबार शुरू हो जाने के बाद कौन सी कीमतें पेट्रोल पंपों पर लागू होगी उसको लेकर अनिर्णय की स्थिति बनी हुई है।

आईसीईएक्स के प्रस्तावित पेट्रोल डीजल वायदा कारोबार के सौदों का निपटारा केवल नगद में ही होगा। क्योंकि उपयोगकर्ताओं को इन जिंसों के भंडारित करने की अनुमति नहीं है। अनुबंध करने वाले ट्रांसपोर्टर जो डीजल और पेट्रोल अथवा पेट्रोल पंप जो इसको खरीद बेचने का काम करते हैं, उनके भुगतान और लेनदेन को लेकर नियम निर्धारित किए जाने हैं।

वायदा कारोबार के लिए बेंचमार्क कीमत तेल विपणन कंपनी द्वारा घोषित दैनिक आधार पर होगी। उसके साथ एक्सचेंज का करार होगा। पेट्रोल और डीजल का वायदा कारोबार शुरू होने के बाद इसमें भी सट्टेबाजी के कारण पेट्रोल और डीजल की कीमतों पर फिर कोई नियंत्रण सरकार और ऑयल कंपनियों का नहीं होगा। जैसा दूसरे अन्य एक्सचेंज में होता है, पेट्रोल डीजल पर वायदा कारोबार शुरू होने के बाद सबसे बड़ा खतरा कीमतों पर नियंत्रण को लेकर रहेगा।

Leave a comment