भय्यू महाराज पंचतत्व में विलन

   Posted Date : 6/13/2018 10:02:32 PM

नई दिल्ली : पारिवारिक तनाव में खुद को गोली मारकर आत्महत्या करने वाले संत और आध्यात्मिक गुरु भय्यू जी महाराज का आज अंतिम संस्कार कर दिया गया है।  होगा। भय्यूजी को मुखाग्नि उनकी बेटी कुहू ने दी। इससे पहले उनके पार्थिव देह को अंतिम दर्शन के लिए इंदौर के सूयोर्दय आश्रम में रखा गया है। भय्यूजी महाराज के पार्थिव देह को बुधवार सुबह सिल्वर स्प्रिंग इलाके में स्थित आवास से सूयोर्दय आश्रम ले जाया गया, जहां उनके अनुयायियों की भीड़ उमड़ी हुई थी। कतारों में खड़े सैकड़ों लोग उन्हें श्रद्धांजलि दी। आध्यात्मिक गुरु भय्यूजी महाराज का पार्थिव शरीर इंदौर में उनके आश्रम पर सुबह 9 से दोपहर 12.30 बजे तक उनका अंतिम दर्शन के लिए रखा गया। 

पारिवारिक झगड़ा बना कारण

भोपाल। भैय्यू महाराज की खुदकुशी को लेकर पुलिस ने शुरुआती जांच के बाद जो खुलासे किए हैं उसके मुताबिक उनकी 18 वर्षीय बेटी कुहू और दूसरी पत्नी के बीच लड़ाई के चलते आध्यात्मिक गुरू ने आत्महत्या का इतना बड़ा कदम उठाया है। इंदौर के पुलिस महानिदेशक हरिनारायणचारी मिश्रा ने बताया- 'हमारे पास इस बात संकेत हैं कि भैय्यू महाराज की बेटी कुहू (जिन्हें कल्याणी के नाम से भा जाना जाता है) और उनकी दूसरी पत्नी डॉक्टर आयुषी के बीच अंतर्कलह इस खुदकुशी के पीछे की एक बड़ी वजह हो सकती है।'
बेटी के कमरे में बंद होकर मारी खुद को गोली

हालांकि, मिश्रा ने आगे बताया कि साक्ष्य अभी पुख्ता नहीं हैं और पुलिस कई अन्य पहलुओं से भी मामले की छानबीन कर रही है।गौरतलब है कि 50 वर्षीय आध्यात्मिक गुरू ने बेटी के कमरे में खुद को बंद कर मंगलवार की दोपहर सिल्वर स्प्रिंग्स कॉलोनी में अपनी रिवॉल्वर से खुद को उड़ा लिया। इसके साथ ही, उन्होंने एक सुसाइड नोट भी छोड़ा है, जिसमें परेशानी और दुखी का जिक्र किया है। खुदकुशी की जांच में लगे एक सीनियर ऑफिसर ने बताया उन्होंने भैय्यू महाराज के मोबाइल फोन, टैबलेट और कम्प्यूटर को जब्त कर लिया है ताकि इस बात का पता लगाया जा सके कोई उन्हें ब्लैकमेल तो नहीं कर रहा था।

Visitor Counter :