जब तक पुल व सड़क नही होगा तब तक होगा आगामी चुनावो का भी होगा बहिष्कार

   Posted Date : 6/13/2018 9:04:24 PM

बांता : मौका था बुधवार को ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज विभाग राजस्थान सरकार के आदेश की अनुपालना में ग्राम पंचायत बांता में अटल सेवा केन्द्र व ग्राम पंचायत भवन पर आयोजित राजस्व लोक अदालत न्याय आपके द्वार शिविर में आम जनता को सुविधा मुहैया करवानी थी। मंगर पिछले कही वर्षो से गांव की मुख्य समस्याओं को लेकर ग्रामीणो ने शिविर का बहिष्कार किया गया। ग्रामीणो अटल सेवा केन्द्र के बाहर ताला लगाकर केम्प परिचर को बंद कर दिया गया।

साथ ही मेन गेट पर आवश्वक सुरचा के रूप बेनर लगाकर लिखा गया कि जब तक पुल निर्माण,सड़क व रेलवे स्टेशन की सुविधा नही मिलेगी तब तक सरकारी शिविरो व चुनावो का बहिष्कार किया जायेगा। पंचायत परिचर के बाहर पिछले साल की बारिश के मौसम नदी पर जो घटना व समस्या से परेशानी उठानी पडी थी। उन्ह सभी घटनो को लेकर मिडीया में प्रकाशत खबर को व फोटो ग्राफीस को बडे बेनर लगाकर लोगो को याद दिया गया। कि पिछले साल बारिश के मौसम मे जो हाल हुये थे। व अब इस साल नही होवे इसलिए ग्रामीणो ने न्याय आपके द्वारा शिविर का बहिष्कार किया गया। जिसके चलते शिविर में लोगो का एक भी कार्य नही हुया। 

ग्रामीणो ने की सरकार के खिलाप नारे बारे

समस्या को लेकर ग्रामीणो ने पंचायत भंवन के बाहर टायर जलाकर सरकार व नेताओ के खिलाप नारे बारे की। ग्रामीणो ने कहा जब तब पुल निमार्ण व बांता से पाचेटिया तक डामरीकरण सड़क नही किया जाता तब तक शिविर में कोही कार्य नही होगा।

रेलवे स्टेशन को लेकर महिलाओ का आक्रोश में  

महिलाओं ने  आक्रोश से उपखण्ड अधिकारी गोमती शर्मा को चुनाते हुये कहा कि पिछले साल तो बारिश मे रेल की सुविधा थी पर तो हमारा बांता गांव पुरे तरह टापु बन जायेगा कही से भी आने जाने का रास्ता नही होगा। महिलाओ ने रेलवे स्टेशन का शुरू व टिकट खिडकी शुरू की मांग खास तो पर की कहा कि आप से पुल व सडक निर्माण में तो समय लगेगा। हमारे रेलवे स्टेशन वापस शुरू कर दिया जाये।

शिविर में नदी के कारण हुई मोतो को किया याद

शिविर का बहिष्कार करते हुये ग्रामीणो ने पिछले साल नदी में पानी लगातार बहने से गांव बना टापु के कारण हफीस खा एंव भंवरी देवी देवासी की मौत हो गई थी तथा गर्भवर्ती महिलाओं को परेशानी का सामना ,स्कुली को नदी पार कर मजबुरी ने स्कुल आना जाना पड़ता था। पुरानी यादो को बेनर के जरीये याद कर वो दिन को लेकर अधिकारीयो व नेताओ को खरी-खरी सुनाई गई।

शिविर के बहिष्कार मे दिखी खाली कुर्सीया

शिविर के बहिष्कार के बाद दोपहर पर प्रसाशनी अधिकारी को अटल सेवा केन्द्र के परिचर में ग्रामीणो द्वारा बैठ ने दिया मगर न्याय आपके द्वारा में बांता अटल सेवा केन्द्र में सभी कुर्सीया खाली नजर आई। साथ कुछ अधिकारी पंचायत भवन के बाहर गुमते फि रते नजर आये। शाम तक कोई भी कार्य नही हुआ।

बेनर को देखते रहे अधिकारी

शिविर के प्रभारी उपखण्ड अधिकारी गोमती शर्मा व तहसीलदार माधोराम राजपुरोहित ने पिछले साल बांता गांव की समस्या को मिडिया द्वारा सुर्खिया में प्रसाशन हुई खबरो को बडी बेनर में देखते हुई साथ बेनर सभी खबरो व फ ोटो ग्राफ ी को रिर्पोट बनाकर कुछ अधिकारी व जिला कलेक्टर को भेजी।

ग्रामीणो ने दिया ज्ञापन एसडीएम को

शिविर को बहिष्कार कर ग्रामीणो ने अपनी मुख्य समस्याओ को लेकर एसडीएम को ज्ञापन दिया गया। ज्ञापन ग्रामीणो द्वारा बताया गया हमे गांव हमेशा जनप्रतिनीधीओं द्वारा आश्वासन दिया जा रहा है। आज भी दस महिनो बाद भी समस्या जस की तक बनी हुयी है एंव बारिश के समय गांव टापु बन जाता है बारिश का मौसम नजदीक है इस कारण गांव की हालात पुर्व जैसे बन जायेगे।

कोई भी जनप्रतिनीधी नही पहुचा शिविर में

ग्रामीणो द्वारा किया न्याय आपके द्वारा शिविर का बहिष्कार में कोई भी जनप्रतिनीधी नही पहुचा ग्रामीणो ने रोष जताते हुये कहा कि हमारे विधायक केसाराम चौधरी ने बांता गांव को गोद लिया मगर बुधवार को गांव के समस्या का निवारण करने नही पहुचे मगर वो दुसरे गांवो में हमेसा विधायक व प्रधान की  उपस्थिती होती है मगर बांता में नही हुई।

इनका कहना

मेरे द्वारा बांता से पांचेटिया डामरीकरण सड़क टेंडर निकाल दिये कार्य के लिए सरकारी फि स के लिए तारीख १४ जुन दि हुई है अगर ठेकेदार १४ जुन तक जमा करवा देता है तो सड़क का कार्य शीघ्र शुरू करवा दिया जायेगा। नही तो दुसरे ठेकेदार को टेंडर दिया जायेगा।  ... पीडब्लुडी एक्सईएन लछाराम वागेलिया 
मेरे स्वंय के द्वारा सीएम वसुधरा राजे को बांता की पुल निर्माण,बांता से पांचेटिया सड़क सीएम घोषणा को लेकर तीन बार ज्ञापन दिया। हमेसा वहां लेटर जारी कर शीघ्र समस्या को समाधान करने का आश्वान ११ माह से दिया जा रहा है। आज तक समस्या निवारण नही हुआ। जिससे ग्रामीणो ने शिविर का बहिष्कार कर अपने समस्या की मांग की।  ... सरपंच समुन्द्रसिंह बांता

Visitor Counter :