मुख्यमंत्री कोनार्ड ने कहा: शिलांग में हिंसा भड़काने के लिए हो रही पैसों की फंडिंग

   Posted Date : 6/4/2018 8:34:45 PM

शिलांग : शिलांग में पिछले कुछ दिनों से हिंसा का दौर जारी हैं इसी बीच सोमवार को सीएम कोनार्ड ने कहा कि शिलांग भड़काने के लिए पैसा और शराब बांटा जा रहा है। उन्‍होंने कहा कि इस हिंसा को कुछ लोग सांप्रदायिक रंग दे रहे हैं जबकि यह स्‍थानीय मुद्दों को लेकर हुई है। उधर, रविवार को हिंसा प्रभावित इलाके में लागू कर्फ्यू में 7 घंटे की ढील दी गई। इस बीच हिंसा को देखते हुए सेना को अलर्ट रखा गया है। वहीं दिल्‍ली के शिरोमणि अकाली दल के नेताओं ने शिलांग के पंजाबी लाइन इलाके में रहने वाले लोगों और स्थानीय सरकारी बस ड्राइवर और कंडक्टरों के बीच विवाद के बाद भड़की हिंसा को देखते हुए मेघालय की राजधानी का दौरा किया। इस बीच पंजाब सरकार ने भी अपना एक दल यहां पर भेजा है। इस हिंसा में अबतक कम से कम 10 लोग घायल हो गए हैं। 

अधिकारियों ने बताया कि पूर्वी खासी जिले में रविवार सुबह आठ बजे से शाम 3 बजे तक ईसाई समुदाय के लोगों को चर्च जाने की अनुमति दी गई। सीएम कोनार्ड ने कहा, यह समस्‍या स्‍थानीय है और स्‍थानीय मुद्दे पर हुई है। यह संयोग है कि इसमें दो समुदाय शामिल हैं लेकिन यह सांप्रदायिक हिंसा नहीं है। उन्‍होंने कहा कि कुछ स्‍वार्थी समूह और राज्‍य के बाहर की मीडिया का एक गुट इस सांप्रदायिक हिंसा का रंग दे रहा है।

कोनार्ड ने कहा कि अबतक जिन लोगों को हिरासत में लिया गया है कि वे पूर्वी खासी हिल्‍स जिले के बाहर के हैं और उन्‍हें पैसा तथा शराब दी गई थी। बता दें कि शिलांग में गुरुवार शाम को पंजाबी लाइन इलाके में रहने वाले लोगों और स्थानीय सरकारी बस ड्राइवर और कंडक्टरों के बीच विवाद हो गया था। इसमें एक कंडक्टर घायल हुआ था। अधिकारियों ने बताया कि इस झड़प ने तब और उग्र रूप ले लिया जब सोशल मीडिया पर यह अफवाह फैली कि घायल सहायक की मौत हो गई है, जिससे थेम मेटोर में बस चालकों का समूह इकट्ठा हो गया। भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस को आंसू गैस का सहारा लेना पड़ा। बस सहायक और तीन अन्य घायलों को अस्पताल ले जाया गया और प्राथमिक उपचार के बाद उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। इस मामले में केस दर्ज कर तीन स्थानीय लड़कों के साथ हुई मारपीट में शामिल एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है और उसके साथियों की तलाश की जा रही है।

Visitor Counter :