बीडिओं के एपीओं के विरोध मे रैली निकालकर सीएम के नाम ज्ञापन सौंपा

   Posted Date : 4/14/2018 7:29:46 PM

भीनमाल। गौभक्त भीनमाल विकास अधिकारी राकेश पुरोहित को राज्य सरकार द्वारा एपीओं करने का विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। भाजपा सहित विभिन्न संगठनों के पदाधिकारियों ने सीएम के नाम उपखंड अधिकारी को ज्ञापन सौंपकर एपीओं आदेश निरस्त नहीं होने पर अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन पर उतरने की चेतावनी दी। एपीओं आदेश के बाद भीनमाल विधानसभा क्षेत्र की राजनीति भी एक बार पुन: गरमा गई है। यदि सत्ताधारी दल द्वारा सकारात्मक कदम नहीं उठाया तो मामला बडा रूप धारण कर सकता है। जिसका खामियाजा भाजपा आगामी विधानसभा चुनावों में उठाना पड सकता है।

हांलाकी भीनमाल विधायक व प्रधान ने एपीओं आदेश निरस्त करवाने के लिए सीएम व पंचायतीराज मंत्री को अनुशंषा भेजने के साथ एपीओ आदेश निरस्त करवाने का विश्वास दिया है। धरना प्रदर्शन को लेकर सवेरे 10 बजे संयुक्त व्यापार महासंघ के अध्यक्ष प्रेमसिंह राजपुरोहित, पूर्व अध्यक्ष नरेश अग्रवाल, रजनीकांत वैष्णव, किसान नेता विक्रमसिंह पूनासा व सुरेश व्यास, पंचायत समिति सदस्य नंदकिशोर दवे व रमेश राजपुरोहित, किरवाला के पूर्व जागीरदार शेखर व्यास, जोरावरसिंह राव, रमेश पुरोहित तवाव, सेवडी उप सरपंच कर्णसिंह राव, भाजपा के पूर्व मंडल अध्यक्ष रविशंकर दवे व पूर्व सरपंच सांवलाराम पुरोहित, दिनेश दवे, राव वचनसिंह, बाबूलाल होंडा,गजाराम माली, नपा उपाध्यक्ष जयरूपाराम माली, पार्षद महेंद्र जीनगर, भाजपा नेता सुरेश बंजारा, इंद्रसिंह राणावत व कन्हैयालाल अग्रवाल सहित बडी संख्या में नगरवासी व गौभक्त पंचायत समिति के बाहर जमा हो गए।

इस दौरान प्रधान धुखाराज राजपुरोहित ने धरना स्थल पहुंचकर विकास अधिकारी का एपीओं आदेश निरस्त करवाने के लिए विधायक पूराराम चौधरी व उनके द्वारा किए गए प्रयासों से अवगत करवाकर आदेश निरस्त करवाने का विश्वास दिलाया। इस दौरान वक्ताओं ने विकास अधिकारी को गौभक्ती व ईमानदारी का दंड एपीओं के रूप में देकर अपमानित करने का आरोप लगाते हुए आक्रोश प्रकट किया। इस दौरान मौजूद लोगों ने एपीओं आदेश निरस्त नहीं होने की स्थिति में भीनमाल बंद व अनिश्विकालीन धरना प्रदर्शन का आयोजन करने की चेतावनी दी। दोपहर करीब 2.30 बजे धरना स्थल से रैली के रूप में मांगों के समर्थन में नारेबाजी करते एसडीएम कार्यालय पहुंचे। यहां सीएम के नाम उपखंड अधिकारी दौलतराम चौधरी को ज्ञापन सौंपकर विकास अधिकारी को एपीओं आदेश निरस्त करवाने की मंाग की।

क्षेत्र की राजनीति में उफान

बुधवार को राज्य सरकार द्वारा गौभक्ती व ईमानदारी के लिए प्रख्यात भीनमाल विकास अधिकारी राकेश पुरोहित का एपीओ आदेश सोशल मीडिया पर आने के बाद भीनमाल विधानसभा क्षेत्र की राजनीति में यकायक उफान आ गया। चुनावी वर्ष होने की वजह से विधायक व प्रधान विरोधी खेमें के लोगों ने विधायक व प्रधान के विरूद्ध सोशल मीडिया व धरने के दौरान जमकर भडास निकाली। हांलाकी विधायक व प्रधान ने आम जनता की भावनाओं का ख्याल रखते हुए उनकी मांग को सरकार तक पहुंचाकर एपीओं आदेश निरस्त करवाने का विश्वास देकर मामले को शांत करने का प्रयास किया। इस पूरे प्रकरण में अभी तक प्रमुख विपक्षी दल कांग्रेस पार्टी पूरी तरह मौन धारणकर भाजपा की अंदरूनी लडाई से दूरी रखने में ही स्वंय ही भलाई समझ रही है।

 विकास अधिकारी का एपीओं आदेश निरस्त करने का मामला सीएम तक पहुंच गया है। सोमवार तक किसी भी हालात में आदेश निरस्त होगा। ... पूराराम चौधरी, विधायक
 
 ईमानदार व कत्र्वव्य निष्ठ अधिकारी को प्रताडित करने की भाजपा की नीति रही है। भीनमाल विकास अधिकारी की कार्यशैली व ईमानदारी की वजह से क्षेत्रवासी सतुंष्ट होने के बावजूद एपीओं के रूप में अपमानित करने लोकतंत्र के लिए घातक है। शिघ्र ही एपीओं आदेश निरस्त होना चाहिए। .... डॉ समरजीतसिंह, जिलाध्यक्ष कांग्रेस कमेटी जालोर

Visitor Counter :