सिरोही में 'फायर सेफ्टी' की महज तीन एनओसी!

   Posted Date : 3/28/2018 7:48:47 PM

सिरोही। पिछले दिनों आबूरोड के एक पेट्रोल पम्प पर लगी भीषण आग के बाद सिरोही में भी फायर सेफ्टी का मुद्दा चर्चा का विषय बन गया है। आश्चर्य की बात तो यह है कि शहर में ऐसे कई होटल, रेस्तरां, इन्डस्ट्रियल यूनिट्स, सरकारी व निजी अस्पताल, स्कूल, कॉलेज, शॉपिंग काम्पलेक्स आदि है, लेकिन फायर सेफ्टी के सिलसिले में कितने कारगर उपाय किए हुए है यह वे ही जानें। कहने का तात्पर्य यह नहीं है कि इनमें फायर सेफ्टी से सम्बंधित कोई उपकरण ही नहीं लगा हुआ है। बेशक कई भवनों में उपकरण लगे हुए हैं, पर फायर सेफ्टी की एनओसी इक्का-दुक्का के पास ही है। 

सिरोही में महज इनके पास है एनओसी

नगर परिषद से प्राप्त जानकारी के अनुसार सिरोही में सिर्फ समीपवर्ती मांडवा स्थित राजकीय पॉलिटेक्निक महाविद्यालय, जावाल चौराहे पर स्थित झोरा-मगरा होटल व फोरलेन पर स्थित एयरलाइन्स होटल ने ही नगर परिषद के फायर स्टेशन से अनापत्ति प्रमाणपत्र (एनओसी) ली हुई है।

कर्मियों की पूर्ति करने का नहीं चला पता

फायर स्टेशन के असिस्टेन्ट फायर ऑफिसर खुशाल मीना के अनुसार सिरोही के जनरल अस्पताल व दो निजी अस्पतालों के एनओसी के लिए आवेदन जरूर आए थे। आवेदन में उन्होंने दी जानकारी में कमी की पूर्ति व अन्य औपचारिकताएं पूरी करने को लिखा गया, पर कमियों की पूर्ति व औपचारिकताएं पूरी की या नहीं इसका पता नहीं चला। इसका कारण यह है कि उन्होंने दोबारा एनओसी के लिए कोई पत्राचार ही नहीं किया। 

मसलन जान की जोखिम से नहीं इनकार

जिला मुख्यालय पर सभी आला अधिकारी बैठते होने के बावजूद यह हाल है तो जिले में हिल स्टेशन माउंट आबू, इंडस्ट्रियल नगरी आबूरोड, वस्त्र बाजार में मिनी मुम्बई माने जाने वाले शिवगंज का क्या हाल होगा, इसकी कल्पना ही करनी रही। ऐसी स्थिति में अचानक आग लगने की स्थिति में कई लोगों की जान जोखिम में पडऩे की आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता। 

एनओसी जारी करने की क्या है प्रक्रिया

असिस्टेन्ट फायर ऑफिसर खुशाल मीना ने बताया कि जिले में सिर्फ सिरोही के फायर स्टेशन में ही फायर ऑफिसर का पद भरा हुआ है। ऐसी स्थिति में यदि कोई एनओसी के लिए पिण्डवाड़ा, शिवगंज, आबूरोड या माउंट आबू पालिका में आवेदन करता है तो वहां के ईओ या आयुक्त को वह सिरोही के फायर स्टेशन भेजना होता है। आवेदन मिलने पर असिस्टेन्ट फायर ऑफिसर उस भवन का निरीक्षण करेगा। फायर सेफ्टी के लिहाज से फिक्स फायर सिस्टम, सिलेण्डर, बिल्डिंग में निकासी के रास्ते, फ्लोर एरिया आदि को ध्यान में लेते हुए जो भी स्थिति होगी, उसकी रिपोर्ट तैयार करेगा। एनओसी

Visitor Counter :