शिक्षा के क्षेेत्र में प्रदेश हुआ आत्मनिर्भर - देवल

   Posted Date : 3/20/2018 8:32:32 PM

रानीवाड़ा। राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे की मंशानुसार शिक्षा क्षेत्र में प्रदेश आत्मनिर्भर हुआ है तथा क्षेत्र की प्रत्येक विद्यालय में उत्तम क्वालिटी की शिक्षा उपलब्ध करवाई जा रही है। यह बात विधायक नारायणसिंह देवल ने राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान के तहत २१ लाख ७६ हजार की लागत से स्वीकृत अतिरिक्त कक्षा-कक्ष राउमावि दहीपुर, जोडवास एवं धानोल के शिलान्यास कार्यक्रम में कही। २१ लाख ७६ हजार की लागत से स्वीकृत तीन अतिरिक्त कक्षा-कक्ष राउमावि दहीपुर, २१ लाख ७६ हजार की लागत से स्वीकृत तीन अतिरिक्त कक्षा-कक्ष राउमावि जोडवास एवं २१ लाख ७६ हजार की लागत से स्वीकृत तीन अतिरिक्त कक्षा-कक्ष राउमावि धानोल का शिलान्यास विधायक नारायणसिंह देवल के मुख्य आतिथ्य विधिवत भूमिपूजन के साथ सम्पन्न हुआ।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए विधायक देवल ने कहा कि क्षेत्र ने पिछले चार सालों में विकास के नये आयाम स्थापित किये है। देवल ने कहा कि २१ लाख ७६ हजार की लागत से राउमावि चितरोडी, पुरण एवं करवाडा में भी तीन-तीन अतिरिक्त कक्षा-कक्षों का निर्माण करवाया जायेगा, मिसिंग लिंक योजना के तहत दहीपुर-सिंगावास डामर सडक का निर्माण कार्य भी करवाया जायेगा। हाल ही में बजट घोषणा में भी क्षेत्र को बडी सौगात राजकीय महाविद्यालय स्वीकृत करवाई गई है जिससे क्षेत्र के छात्र-छात्राओं को उच्च शिक्षा उपखण्ड मुख्यालय पर ही उपलब्ध हो सकेगी। बजट घोषणा के तहत ५० हजार की ऋण माफी की घोषणा से क्षेत्र के किसानों को फायदा मिलेगा।

क्षेत्र में नये जीएसएस स्वीकृत करवाकर निर्माण किये गये है जिससे क्षेत्र के किसानों को पूरी बिजली मिल रही है। कार्यक्रम को दहीपुर सरपंच मंजीराम चौधरी ने संबोधित करते हुए राज्य एवं केन्द्र सरकार की जन कल्याणकारी योजनाओं को विस्तार से बताते हुए आमजन को फायदा उठाने की बात कही। इस अवसर पर रमसा एडीपीसी, पूर्व सरपंच लखमाराम चौधरी, जोडवास सरपंच प्रतिनिधि सुमेर राणा, नरसाराम सुथार, पूर्व सरपंच जोराराम मेघवाल, होथीराम देवासी, मफाराम चौधरी, सवदाराम चौधरी, केराराम चौधरी सहित सैकडों कार्यकर्ता एवं ग्रामीण उपस्थित थें।

Visitor Counter :