गुजरात के भावनगर में बेकाबू ट्रक पुल से नीचे गिरा, 31 बारातियों की मौत

   Posted Date : 3/6/2018 7:13:08 PM

अहमदाबाद : गुजरात में एक सड़क हादसे में दो बच्चों सहित 31 बारातियों की मौत हो गई, जबकि दो दर्जन से अधिक घायल हो गए। बारातियों को ले जा रहा ट्रक एक नाले पर से गुजरते वक्त नीचे गिर गया, जिसके नीचे दबने से अधिकांश की मौत हो गई, मरने वालों में दूल्हे के माता-पिता भी शामिल हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने घटना पर दुख जताया है। सरकार ने म्रतकों के परिजनों को 4 - 4 लाख रुपये की सहायता की घोषणा की है।

मंगलवार सुबह बारातियों से भरा ट्रक भावनगर के गढडा से टाटम जा रहा था। सुबह करीब 7.30 बजे रंघोला गांव के पास एक नाले से ट्रक गुजर रहा था, तभी ड्राइवर ने अचानक संतुलन खो दिया, जिससे ट्रक रेलिंग तोड़कर नाले में 20 फीट नीचे गिर गया। ट्रक के नीचे दबने के कारण अधिकांश लोगों की मौत हुई है। ट्रक में करीब 60 लोग सवार थे। मृतकों में दो बच्चे भी शामिल हैं। गृह राज्यमंत्री प्रदीप सिंह जडेजा ने बताया कि नाले के नीचे सीमेंट की फर्श बनी हुई थी, जिससे 26 लोगों की मौत घटनास्थल पर ही हो गई, अन्य 5 ने अस्पताल में उपचार के दौरान दम तोड़ दिया। दो दर्जन से अधिक लोग इस हादसे में घायल हो गए, जिनका भावनगर के सर टी हॉस्पिटल में उपचार चल रहा है।

शिक्षामंत्री भूपेंद्र सिंह चूडास्मा व भाजपा अध्यक्ष जीतूभाई वाघाणी ने भावनगर पहुंचकर घायलों का कुशलक्षेम पूछा। उधर, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट करके हादसे पर गहरा दुख जताया तथा घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की। मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने घटना पर शोक जताते हुए मृतकों के परिजनों को चार - चार लाख रुपये मुआवजा देने की घोषणा की तथा घायलों का मुफ्त इलाज कराने का एलान किया है। गुजरात विधानसभा में भी इस घटना में मारे गए लोगों को श्रद्धांजलि दी गई। कांग्रेस के वरिष्ठ विधायक कुंवरजी बावळिया ने मृतकों के परिजनों को 8 से 10 लाख रुपये मुआवजा देने की मांग की है।

इससे पहले सूचना पाते ही जिला कलेक्टर एचपी सिंह सहित पुलिस का काफिला वहां आ पहुंचा। पुलिस ने स्थानीय लोगों की मदद से ट्रक के नीचे दबे घायल लोगों को बाहर निकाला। सिंह के मुताबिक, ट्रक में कुल 60 लोग सवार थे। सभी मृतक कोली समाज के हैं। पालीताणा के अडीगा गांव के प्रवीणभाई कोली के पुत्र विजय की शादी गढ़ड़ा के टाटम गांव में हो रही थी। सभी ट्रक में बैठकर बारात में जा रहे थे, तभी यह हादसा हुआ। मृतकों में एक ही गांव अनीडा के 22 लोग शामिल हैं। घटना के बाद जहां रंघोला गांव स्वस्फूर्त बंद हो गया वहीं अडीगा, टाटम आदि गांवों में भी मातम का माहौल है।

Visitor Counter :