जागो भोले बाबा पर झूमे श्रोता

   Posted Date : 2/14/2018 7:57:09 PM

रानीवाड़ा। देवाधिदेव शिव की आराधना का प्रमुख पर्व महाशिवरात्रि मंगलवार को श्रद्धा भक्ति के माहौल में धूमधाम से मनाया गया। उपखण्ड के प्रमुख शिवालयों में महारूद्राभिषेक, पंचामृत अभिषेक, ऋतुपुष्पों के श्रृंगार, भक्ति संध्या रात्रि जागरण कर अनेक जगह विशाल भजन संध्याओं का आयोजन हुआ। सेवाडिया के आपेश्वर महादेव, सेवाड़ा के प्राचीन पातालेश्वर महादेव, कारलू के बोटेश्वर महादेव, सिलासन के सिलेश्वर महादेव, कोटडा आन्द्रेश्वर महादेव, रानीवाड़ा के नीलकंठ महादेव, जाविया के खोडेश्वर महादेव मंदिरों में महाशिवरात्रि पर्व धूमधाम से मनाई गई। शिवालय में दिनभर विविध धार्मिक आयोजन हुए। रात्रि जागरण के समय भक्ति संध्या हुई जिसका भक्तगणों ने जमकर आनन्द लिया। सभी जगह महादेव मन्दिरों में भजन संध्या का आयोजन किया गया।

अदेपुरा में जंलद्रनाथजी मंदिर में साध्वी पंखु बाई, रमेश प्रजापत, विष्णु भाई ने जागो जागो भोले बाबा.... की भजन प्रस्तुति पर श्रौता झूम उठे। कलाकारों ने प्रत्येक मनमोहक भजन की प्रस्तुति में अपनी आवाज का जादू बिखेर रखा। भजन बम लहरी माया तेरी... सन्तोंं वाली टोगडी... मां मने घोड़लीयो मंगवा दे.. आदि भजनों पर श्रौता भी मनमोहिक हो गये। नृत्य कलाकारो ने लोगों को भक्ति विभोर कर दिया। वहीं शिवालय मे राजुभाई, जगदीश श्रीमाली एवं इन्द्रभाण श्रीमाली ने भोलेनाथ का महाश्रृंगार किया। शिवालयों मे भी भक्त सवेेरे से ही पूजा अर्चना करने वालो का तांता लगा रहा, शिवरात्रि ही एक  मात्र ऐसा दिन है जिस दिन शिव पर चढाया गया जल सती को भी प्राप्त होता है। हिन्दू शैव ग्रंन्थो के मुताबिक शिव लीला ही सृष्टि रक्षा और विनाश करने वाली है। वही अनादि, अन्नत है यानी उसका न जन्म होता है न अंत। वह साकार भी है और निराकार भी। इसलिए भगवान शिव कल्याणकारी है।

गूंजे जयकारे- शिवालयों में बम बम भोले, हर-हर महादेव के जयकारों से वातावरण धर्ममय हो गया चारों तरफ केवल ú नम: शिवाय की ही गूंज सुनाई दे रही थी। मंदिरों में उमड़ा हुजुम- जिधर देखों उधर ही शिवालयों को जाने वाले रास्तों पर लोगों के हुजुम उमड़ पड़े ऐसा लग रहा था जैसे दुनिया सिमट कर शिवालयों की ओर ही जा पहुंची हो। मातृ के शक्ति के रूप में महिलाएं, कन्याएं सजधज कर झुंड बनाकर मंगल गीत गाती हुई शिवालयों की ओर जाती आती आकर्षक लग रही थी सभी के चेहरों पर भक्ति का भाव देखने को मिल रहा था। माहेश्वरी समाज के पूर्व अध्यक्ष कैलाश गीगल, अशोक माली, जगदीश गीगल, डॉ.किर्ती जोशी, पारसमल जीनगर, टीकम राठी, बिजल सेलाणा, अमृत पुरोहित, केराराम चौधरी, प्रकाश देवासी, प्रवीण लखारा, राहुल दत्ता, विजय ओड, गोपाल, टिंकु, सागर, विक्रम, उम्मेद, दीपक सहित शिव भक्तों ने उपवास रखे तथा शिवालय मेें पूजा अर्चना की।

ध्वजा चढ़ाई, बोले चढ़ावे
- महाशिवरात्रि के पर्व पर प्रत्येक शिवालयों में सभी भक्तजनों की उपस्थिति में ध्वजा चढ़ाई गई तथा विभिन्न प्रकार के चढ़ावे बोले गए चढ़ावों में लोगों ने बढ़चढ़ कर भाग लिया।
रोशनी में नहाऐं शिवालय- शिवालयों को फूलमालाओं से सजाया गया तथा रोशनी से सभी शिवालय जगमग हो रहे थे। आयोजकों ने आने वाले भक्त जनों की सुविधा हेतु रोशनी का यथोचित प्रबन्ध किया गया था।

महादेव दर्शन हेतु देखी गई कतारें - पातालेश्वर महादेव सेवाड़ा, आपेश्वर महादेव सेवाडिय़ा, सिलेश्वर महादेव सिलासन, आन्द्रेश्वर महादेव कोटड़ा, बोटेश्वर महादेव कारलू में महादेव दर्शनार्थ लोगों की लम्बी-लम्बी कतारें देखी गई सभी अपनी-अपनी बारी आने के लिए उत्सुक देखे गए।

Visitor Counter :