जुलूस के रिहर्सल के दौरान हुई कहां सुनी बदली पत्थर बाजी में

   Posted Date : 1/13/2018 7:48:35 PM

पाली। शहर के नाडी मोहल्ला में बीती रात जुलूस के रिहर्सल को लेकर दो पक्षों में हुई गरमा-गरमी के बाद उपजाव विवाद ईतना बढ़ गया की एक पक्ष के लोगों ने दोपहर में धान मंड़ी में एकत्रित हुए जहां भाषण बाजी के बाद नारेबाजी करते हुए सर्राफा बाजार, गुलजार चैक, पुराना बस स्टैंड, जाकिर हुसेन मार्ग, नवलखा रोड होते हुए कलक्ट्रेट पहुंचे, लेकिन इससे पूर्व कुछ स्थानों पर जुलूस के दौरान हल्की गरमा-गरमी हुई, लेकिन भारी पुलिस जाब्ते के बीच स्थिति को काबू पा लिया गया। इसके बाद जुलूस में लोगों ने जमकर कलक्ट्रेट के बाहर नारेबाजी की। एक बार तो लोगों ने जिला कलक्टर का बाहर आकर ज्ञापन लेने की मांग पर अड गए। तो कुछ मुख्य दरवाजा खोल कर अंदर जाने की बात पर।

24 घंटे की दी चेतावनी

इसके बाद पुलिस प्रशासन की ओर से कुछ लोगों को कलक्टर को ज्ञापन सौंपने के लिए अंदर भेजा गया। जिसमें बताया गया की उनका रिहर्सल को लेकर शांति पूर्वक ढ़ंग से जुलूस निकल रहा था, लेकिन नाड़ी मोहल्ले में कुछ असामाजिक तत्वों ने उनके लोगों के साथ मारपीट की, जिससे उनकी ओर से शांति व्यवस्था बदहाल हुई है। साथ ही उन्होंने मांग करते हुए कहां की यदि 24 घंटे के भीतर मुख्य आरोपी समेत अन्य लोगों को गिरफ्तार नहीं किया गया तो सोमवार को उनकी ओर से अगली रणनीती बनाई जाएगी। इसके बाद पुलिस की मौजूदगी में शांति पूर्वक ढं़ग से लोगों को वहां से रवाना किया गया।

ये था मामला

प्राप्त जानकारी के अनुसार शुक्रवार को बीती रात नाड़ी मोहल्ला ईलाके से जुलूस को लेकर रिहर्सल निकाला जा रहा था। इस दोरान वहां खड़े कुछ युवकों ने उन्हें रोककर मारपीट कर दी। जिस पर एक बार तो मौके से रिहर्सल कर रहे लोग भाग गए और दोनों ने आपस में पत्थर बाजी शुरू कर दी। इस घटना में कुछ रिहर्सल कर रहे बच्चों के चोटे भी आई। वहीं सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस पर भी दोनों पक्षों की ओर से पत्थराव किया गया। जिससे पुलिस कर्मियों को भी चोटे आई। वहीं घंटों तक दोनों पक्ष आपस में जमकर नारेबाजी करते रहे। जिसमें एक पक्ष जुलूस पर पत्थराव करने वाले आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग पर अड गए। दोनों पक्षों के लोगों ने उन्हें समझाया।

लाठियां भांज खदेड़ा भीड़ को

लेकिन बात नहीं बनी तो मजबूर होकर पुलिस को लाठियां भांज कर एक पक्ष के लोगों को भगाना पड़ा, लेकिन एक समुदाय के लोगों ने पटेल छात्रावास के बाहर खड़ी मोटरसाईकिलों को क्षतिग्रस्त कर दी। आपस में हुई पत्थर बाजी के कारण नाड़ी मोहल्ला और केरीया दरवाजा के मार्ग पर पत्थरों का जमावड़ा लग गया। वहीं सदर ओद्योगिक महिला प्रभारी के साथ ग्रामीण एवं सीओसीटी को भी मौके पर आना पड़ा। बात नहीं बनी तो अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ज्योति स्वरूप शर्मा को भी मौके पर पहुंच कर समझाईश करनी पड़ी। इस दौरान विधायक ज्ञानचंद पारख व महेंद्र बोहरा भी मौके पर पहुंचे, लेकिन वहां मौजूद आक्रोशित लोगों को देखकर वे भी गली पकड़कर निकल गए।

एसपी भार्गव पहुंचे मौके पर

देर रात तक मामला शांति व्यवस्था बनाने के लिए स्वयं पुलिस अधीक्षक दीपक भार्गव भी मौके पर पहुंचे, जिन्होंने दोनों पक्षों के लोगों को समझाईश की। इसके बाद पुलिस ने घर के बाहर खडे लोगों को लाठियों के माध्यम से जबरन घर में भेजा। तो देर रात तक पुलिस का दल इन ईलाकों में गस्त करता नजर आया। सवेरे भी नाडी मोहल्ला में पुलिस की गस्त कड़ी देखी गई। जहां अतिरिक्त जाब्ते के साथ आरएससी एवं पुलिस जवान के साथ महिला बटालियन भी गस्त में दिखाई दी। वहीं पुलिस की ओर से इस मामले की सम्पूर्ण विडियो ग्राफी भी करवाई गई। तो दूसरी ओर पुलिस की एक टीम कुछ संदिग्ध लोगों को हिरासत में लेकर मुख्य आरोपी की तलाश में दबीश भी दे रही है।

Visitor Counter :