जिला परिषद की गूंजा नरेगा मजदूरों की बकाया मजदूरी का मामला

   Posted Date : 1/12/2018 8:11:28 PM

जालोर। जिला परिषद की बैठक में शुक्रवार को नरेगा मजदूरों की बकाया करीब ६५ लाख की मजदूरी को लेकर जमकर हंगामा बरसा। बैठक में जब संबंधित अधिकारी से सांसद देवजी एम पटेल ने बकाया मजदूरी के बारे में पूछा तो जयपुर से एक पत्र का हवाला दिया गया। बस फिर क्या था। सांसद समेत पूरा भवन गूंज उठा। सांसद ने कहा कि जयपुर में बैठकर ऐसे आईईएस अधिकारी के पत्र के आधार पर मजदूरी कैसे रोक दी गई है। अगर एक्ट के तहत रोकी है तो मैं कुछ नहीं कहता, लेकिन सिर्फ एक आदेश के आधार पर अप्रेल महीने से मजदूरी रोक दी गई। ये मजदूर कैसे परिवार चलाते हैं वो उस आईएएस को क्या पता। जयपुर में बैठे-बैठे पत्र निकाल देते हैं, लेकिन उन्हें मजदूरों के दर्द से कोई सरोकार नहीं होता है। वह अधिकरी नौकरी करना ही भूल जाएगा।
गौरतलब है कि जिला परिषद की बैठक में जिलेभर के काफी मुद्दों पर जनप्रतिनिधियों ने अधिकारियों से सवाल-जवाब किया। कई सवालों के तो अधिकारी जवाब देते भी नहीं बने।

सदन ने लिया अधिकारी के खिलाफ निंदा प्रस्ताव

जालोर सांसद देवजी पटेल ने बैठक में जिले में महात्मा गांधी रोजगार गारंटी योजना के तहत गत मार्च 2017 से विभिन्न स्थानों पर नरेगा श्रमिकों के बकाया भुगतान को गंभीरता से लेते हुए कहा कि एमजी नरेगा अधिनियम में जब श्रमिक की मजदूरी को रोके जाने का कोई प्रावधान नहीं है तो आधार लिंक के बहाने मजदूरी क्यों रोकी गई है। जिस पर सभी सदस्यों ने एक मत होकर इस सम्बन्ध में निन्दा प्रस्ताव लिया। वही मुख्य कार्यकारी अधिकारी हरिराम मीना ने कहा कि एक माह के भीतर नरेगा श्रमिकों के मजदूरी का भुगतान कर दिया जाएगा।

मूंगफली खरीद में खातों में पैसा
बैठक में एक सदस्य की ओर से रानीवाड़ा क्षेत्र में किसानों की मूंगफली खरीद के बाद उनके खातो में अब तक भुगतान नहीं आने का प्रश्न उठाया गया, इस पर कलक्टर बीएल कोठारी ने कहा कि ये सब सिस्टम ऑनलाइन है। ऐसे में ये किसी के बस में नहीं है। हालांकि कलक्टर ने इस संबंध में पता करने की बात कही।

अधिकारी टालमटाल नहीं करें

जिला प्रमुख डा. बन्नेसिह गोहिल ने अधिकारियों से कहा कि वे जन प्रतिनिधियों की मंशा के अनुरूप जन हित के कार्यो को प्राथमिता से करवाने के साथ ही आयोजित कार्यक्रमों में भी उनकी अधिकाधिक सहभागिता सुनिश्चित करें। उन्होने कहा कि सदस्यों के द्वारा पूछे गये प्रश्नों के प्रति उत्तर में किसी भी प्रकार की जल्दबाजी नही कर उसका निराकरण के बाद व्यवस्थित रूप से अपना जबाव भिजवाएं तथा किसी भी स्तर पर टालमटोल नही करें। इस दौरान जालोर जिले में विभिन्न टोल नाकों द्वारा सडकों की खराब हालत होने के बावजूद वसूले जा रहे टोल को बंद करने की आवश्यकता जताते हुए सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधीक्षण अभियन्ता को निर्देशित किया गया। साथ ही वे टोल के नियम एवं सम्बन्धित एजेन्सी के मध्य हुए करार की पूर्ण जानकारी सदन में रखे।

जनप्रतिनिधियों ने ये भी रखे मुद्दे

बैठक में रानीवाड़ा विधायक नारायणसिंह देवल ने क्षेत्रा में टोल नाकों के पास रहने वाले किसानों को नियमानुसार रियायत देने तथा राजकीय चिकित्सालयों में बेहतर व्यवस्था किये जाने की आवश्यकता जताई। भीनमाल विधायक पूराराम चौधरी ने क्षेत्र में सडक निर्माण व पेचवर्क के कार्य को व्यवस्थित करने तथा इसमें कोताही बरतने वाले ठेकेदारों के विरुद्व कार्यवाही की मांग की। बैठक में जालोर विधायक श्रीमती अमृता मेघवाल ने सायला क्षेत्र में चिकित्सालयों में एएनएम एवं अन्य कार्मिकों के रिक्त पदों पर पदस्थान्न की आवश्यकता जताई।

कलक्टर ने दिए जांच के आदेश
जिला कलक्टर बीएल कोठारी ने महिला एवं बाल विकास विभाग की उप निदेशक को सख्त शब्दों में कहा कि चितलवाना क्षेत्र में उनके कार्मिक द्वारा आंगनवाडी केन्द्रों में अनियमितता की गई है तो वे उसकी जांच कर उनके खिलाफ  पुलिस कार्यवाही करें। उन्होंने विकास अधिकारियों को भी कहा कि उनके अधीनस्थ यदि स्थानान्तरण के बाद पूर्ण रूप से चार्ज नही दे या पट्टा रजिस्ट्रर आदि नहीं दे तो उनके खिलाफ  भी सख्त कार्यवाही की जाये।  

ये रहे उपस्थित

जिला परिषद की बैठक करीब छह घंटे से अधिक समय तक चली। बैठक में उप जिला प्रमुख श्रीमती गिरधर कंवर, चितलवाना प्रधान हनुमान प्रसाद भादू, साचौर प्रधान टाबाराम, रानीवाडा प्रधान श्रीमती रमिला, भीनमाल प्रधान धुखाराम पुरोहित, सायला प्रधान जबरसिंह, जालोर प्रधान संतोष, आहोर प्रधान श्रीमती राजेश्वरी कंवर, जसवन्तपुरा प्रधान पिंकी पुरोहित, जिला परिषद सदस्य मंगलसिंह सिराणा, खेमराज देसाई, मेघराज, श्रीमती अनिता कंवर, श्रीमती पवनी देवी, आम्बाराम, माधोसिंह, राजेश कुमार, मीरादेवी एवं हिम्मताराम आदि ने अपने-अपने क्षेत्रा की जन समस्याओं को तत्परता से रखा। इस अवसर पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक लक्ष्मणदास व उप पुलिस अधीक्षक नरेन्द्र कुमार दवे सहित विभिन्न सदस्य एवं जिला स्तरीय अधिकारी आदि उपस्थित थे।

Visitor Counter :