रॉबर्ट वाड्रा की मुश्किलें बढ़ीं, बीकानेर जमीन घोटाला मामले में 2 गिरफ्तार

   Posted Date : 12/22/2017 5:43:18 PM

नई दिल्‍ली : सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा एक बार फिर सुर्खियों में हैं। प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने शुक्रवार को बीकानेर भूमि घोटाले में दो लोगों को गिरफ्तार किया, जो वाड्रा के करीबी बताए जा रहे हैं। ED ने इनके नाम जयप्रकाश भगार्वा और अशोक कुमार बताए हैं। एक दिन पहले ही 2G टेलीकॉम स्‍पेक्‍ट्रम घोटाला मामले में विशेष अदालत का फैसला आया था, जिसमें UPA सरकार के दौरान मंत्री रहे ए राजा और DMK की कनिमोझी को बरी कर दिया गया। इसके बाद कांग्रेस खुलकर मैदान में आ गई थी और कहा था कि अब कोर्ट से साबित हो गया है कि उसके खिलाफ झूठे आरोप लगाए गए थे।

ED ने कहा कि जिन लोगों को गिरफ्तार किया गया है, उनमें अशोक कुमार स्‍काइलाइट हॉस्पिटलिटी प्राइवेट लिमिटेड के महेश नागर के करीबी सहयोगी हैं। उन्‍हें धन शोधन रोकथाम अधिनियम (PMLA) के तहत गिरफ्तार किया गया। ED ने कुमार और नागर के घरों पर इस साल अप्रैल में छापेमारी की थी। एजेंसी का कहना है कि इस फर्म की ओर से बीकानेर में जमीन खरीद के जो 4 मामले हैं, उसमें नाग‍र ही 'अधिकृत प्रतिनिधि' थे। वहीं, कुमार ने अन्‍य लोगों के 'पावर ऑफ अटॉर्नी' का इस्‍तेमाल करते हुए उसी इलाके में जमीन खरीदे।

ED की जांच राजस्‍थान के बीकानेर शहर के कोलायत इलाके में कंपनी द्वारा कुछ साल पहले कथित तौर पर 275 बीघा जमीन की खरीद से जुड़ा है। जांच एजेंसी ने इस मामले में सरकारी अधिकारियो की 1.18 करोड़ रुपये की संपत्ति भी कुर्क की। इस मामले में कथित घोटाले को लेकर स्‍थानीय तहसीलदार ने शिकायत की थी, जिस पर राज्‍य की पुलिस ने FIR दर्ज किया था। ED ने इसी मामले में संज्ञान लेते हुए 2015 में PMLA के तहत एक आपराधिक मामला दर्ज किया था।

एजेंसी ने इस मामले में प्रियंका गांधी के पति वाड्रा से कथित तौर पर संबद्ध फर्म को नोटिस भी जारी किए थे और इससे कुछ दस्‍तावेज भी हासिल किए थे। हालांकि  ED ने अपने FIR में वाड्रा या उनसे जुड़ी किसी कंपनी का नाम नहीं लिया। अपने FIR में इसने राजस्‍थान सरकार के कुछ अधिकारियों और 'भू माफियाओं' का नाम लिया है। वाड्रा ने हालांकि पूरे मामले में किसी भी तरह की संलिप्‍तता से इनकार किया है। कांग्रेस ने भी इसे 'राजनीतिक बदले की भावना' की गई कार्रवाई करार दिया है।

Visitor Counter :