बलात्कार पीड़िता को मिली गर्भपात की इजाजत

   Posted Date : 12/6/2017 8:52:14 PM

मुंबई : मुंबई हाईकोर्ट ने बलात्कार पीड़ित 13 साल की लड़की को गर्भपात की इजाजत दे दी है. हाईकोर्ट ने यह फैसला मुंबई के केईएम अस्पताल द्वारा पीड़िता के स्वास्थ्य को लेकर पेश की गई रिपोर्ट देखने के बाद दिया है. इस बाबत 25 सप्ताह से अधिक के भ्रूण के गर्भपात के लिए पीड़िता के पिता ने पिछले सप्ताह कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था. न्यायाधीश शांतनु खेमकर और न्यायाधीश जीएस कुलकर्णी ने पीड़िता के पिता की ओर से दायर याचिका पर विचार करने और मेडिकल रिपोर्ट को देखने के बाद यह फैसला सुनाया है.

दरअसल पीड़िता की कम उम्र होने के कारण डिलिवरी में उसे परेशानियों का सामना करना पड़ सकता था. साथ ही इससे पीड़िता की जान को खतरा भी हो सकता था. सुनवाई के दौरान न्यायाधीशों ने कहा, 'बोर्ड की रिपोर्ट पर विचार करने और पीड़िता की उम्र को देखते हुए हमारा मानना है कि इस याचिका को मान लिया जाए'. उन्होंने यह भी कहा कि पहले ही यह लड़की काफी दर्द और तकलीफ सह चुकी है और यदि उसका गर्भपात नहीं कराया गया तो उसकी तकलीफ और बढ़ सकती है.

मालूम हो कि मुंबई के घाटकोपर की रहने वाली 13 साल की पीड़िता का उसके चचरे भाइयों ने बलात्कार किया था. शुरुआत में परिवार वालों को पीड़िता के गर्भधारण के बारे में पता ही नहीं लगा. जब इलाज के लिए परिवार वाले डॉक्टर के पास पहुंचे तो पीड़िता के गर्भधारण की बात सामने आई. आपको बता दें कि कुछ समय पहले हाईकोर्ट की इसी खंडपीठ ने एक 27 वर्षीय महिला के गर्भपात की अनुमति दे दी थी. महिला के पेट में पल रहे भ्रूण में न्यूरॉलॉजिकल समस्या के कारण महिला ने कोर्ट से गर्भपात की इजाजत मांगी थी. इस संदर्भ में जेजे अस्पताल के डॉक्टरों द्वारा पेश की गई मेडिकल रिपोर्ट के बाद कोर्ट ने गर्भपात की अनुमति दी थी. विशेषज्ञों ने बताया था कि उसके 25 सप्ताह पुराने भ्रूण में कुछ न्यूरोलॉजिकल दिक्कतें हैं.

Visitor Counter :