बजट के बावजुद 4 वर्षा से क्यो अधुरा पडा है नवनिर्मित कमरो का निमार्ण कार्य

   Posted Date : 12/6/2017 7:44:17 PM

मंडार : कस्बे के राजकीय सिनियर स्कुल को आदर्श स्कुल का दर्जा तो सरकार की ओर से मील गया मगर यहा पर सुविधाओ का अभाव होने के कारण यहा अध्यन करने वाले छात्रो को मजबुर होकर समस्या से दो चार होना पड रहा है। स्कुल में कमरो का अभाव होने के कारण सरकार की ओर से चार वर्ष पुर्व करीब 50 लाख रूपये का बजट जारी कर सिनियर स्कुल में 6 अतरिक्त कमरो का निर्माण कार्य रमसा योजना के तहत कमरो का निर्माण कार्य शुरू कवाया गया था। मगर इन कमरो का निर्माण कार्य को बीच राह में अधुरा छोड देने के कारण अब अधुरे कमरो में रात के समय शराबी लोग अपना मेहखाना जमाने के उपयोग में ले रहै। सिनियर स्कुल में पढने वाले छात्रो ने बताया की एक साथ 50 लाख रूपये का बजट होने के बावजुद 6 कमरो का निर्माण नही हो पाया तो आखिर इन कमरो के निर्माण कार्य में ठैक्दार को कितना बजट देना चहिए 50 लाख रूपये का बजट होने के बावजुद इन कमरो का निमार्ण कार्य इस तरह से किया गया है। की बारिश के समय इन कमरो में बारिश का पानी पुरी तरह से अंदर प्रवेश होगा।

निर्माण कार्य पुरा नही होने के कारण अब इन कमरो में लगती है शराबी लोगो की महफिल

सिनियर स्कुल भुमि पर पुलिस थाने की लगती दिवार के पास करीब 50 लाख रूप्ये की लागत से 6 अतरिक्त कमरो को निर्माण कार्य करवाया जा रहा था। मगर यह निर्माण कार्य आधा होने के बाद इसका कार्य पुरी तरह से बंद कर देने के कारण पिछले चार वर्षा इन कमरो का अधुरा कार्य अधर झुल में लटक रहा है। कमरो के खिडिकी दरवाजे नही होने के कारण रात के समय इन कमरो में शराबी लोग अक्षर बेठकर शराब का सेवन करते नजर आते है।

अधुरे निर्माण कार्य में भी बरती गई लापरवाही

कस्बे के सिनियर स्कुल भुमि पर 6 कमरो का निर्माण कार्य शुरू करवाया गया मगर निर्माण कार्य की तरफ किसी बडे अधिकारी की ओर से ध्यान नही देने के कारण कमरो को जीमन से उपर उठाने के बजाये जमीन के अंदर ही रखने के कारण बारिश होने पर इन कमरो में पानी का भराव होगा जिसके कारण छात्रो को बारिश के दिनो में खासी परेशानी का सामना करना पडेगा।

Visitor Counter :