मैरी ने रचा इतिहास जीता एशियाई चैम्पियनशिप में गोल्ड

   Posted Date : 11/8/2017 6:44:11 PM

नई दिल्ली। पांच बार की विश्व चैम्पियन भारतीय मुक्केबाज एमसी मैरीकॉम ने एशियाई मुक्केबाजी चैम्पियनशिप में 48 किलोवर्ग में स्वर्ण पदक जीतकर इतिहास रच दिया है। मैरीकॉम ने अपनी उत्तर कोरियन प्रतिद्वंदी किम हयांग मी को 5-0 से हराकर एशियाई गोल्ड वापस देश में लाने का सपना पूरा किया है। मणिपुर की मुक्केबाज, जो तीन बच्चों की मां भी हैं, ने करीब एक साल बाद मुक्केबाजी रिंग में वापसी की है। यह 2014 एशियाई खेलों के बाद मेरीकाम का पहला अंतरराष्ट्रीय स्वर्ण पदक है और एक साल में उनका पहला पदक है।

पैंतीस बरस की मैरीकॉम का सामना मी के रूप में सबसे आक्रामक प्रतिद्वंद्वी से था लेकिन वह इस चुनौती के लिए तैयार थीं। अब तक पहले तीन मिनट एक दूसरे को आंकने में जाते रहे थे लेकिन इस मुकाबले में शुरुआती पलों से ही खेल आक्रामक रहा। मैरीकॉम ने अपनी प्रतिद्वंद्वी के हर वार का माकूल जवाब दिया। दोनों ओर से तेज पंच लगाए गए। मैरीकॉम उसके किसी भी वार से विचलित नहीं हुई और पूरे सब्र के साथ खेलते हुए जीत दर्ज की। इससे पहले मैरीकॉम ने मंगलवार को एशियाई मुक्केबाजी चैम्पियनशिप  के फाइनल में प्रवेश किया। मैरीकॉम ने जापान की मुक्केबाज तसुबासा कोमुरा को 5-0 से मात देकर फाइनल में जगह बनाई। अपने अनुभव से उन्होंने इस मैच में जापान की मुक्केबाज को आसानी से हरा दिया था।

Visitor Counter :