विभिन्न समस्याओं समस्याओं को लेकर किसानों ने धरना प्रदर्शन किया

   Posted Date : 9/11/2017 5:37:30 PM

आहोर : उपखंड क्षेत्र के किसानों की विभिन्न समस्याओं को लेकर किसान एकता संघ के तत्वाधान में सोमवार को उपखंड कार्यालय के सामने धरना प्रदर्शन किया गया। धरने के दौरान किसानों की विभिन्न समस्याओं को लेकर घनश्यामसिंह रसियावास, प्रताप आंजणा सहित कई किसानों ने उदबोधन दिया। धरने के बाद किसान प्रतिनिधी मण्डल द्वारा मुख्यमंत्री के नाम एसडीएम प्रकाशचंद्र अग्र्रवाल को ज्ञापन दिया गया।

ज्ञापन में बताया कि क्षेत्र में पिछले तीन वर्षो से हो रही अतिवृष्टि से खेतों में फसले पूरी तरह से खराब हुई। जिससे किसान वर्ग कर्ज में डूबा हुआ है, जिस कारण ऋण माफ करने, वर्ष २०१५ में खरीफ फसल मौसम में ७५ से १०० प्रतिशत खराबा का २ हैक्टर से अधिक की खेत वाले किसानों को १३६०० रूपये अभी तक अनुदान राशि शीघ्र दिलाने, वही वर्ष २०१६ में खरीफ फसल खराबे का बीमा क्लेम बीमा कंपनी द्वारा आहोर क्षेत्र के काश्तकारों को दिलाने, इस क्षेत्र के खेतों में की गई बुवाई भारी बारिश के कारण फसले तबाह हो गई है। फसल खराबे का सही ढ़ंग से गिरदावरी करवाकर खराबे का आंकलन करने के साथ किसानों को बीमा क्लेम व अनुदान दिलाने की पूरजोर मांग की गई।

जवाई बांध के पानी पर जालोर का हक तय करने के साथ जवाई बांध की १३ गेटो का परिनिर्धारित ४५ फिट के ऊपर की भराव क्षमता को रिक्स जॉन चिन्हित कर प्रतिदिन मॉनिटरिंग के लिए जोधपुर कमिश्नर को रेगुलेटिंग ऑथरिटी प्राधिकृत करवाने, जवाई बांध के पानी को लेकर जोधपुर कमिश्नर की अध्यक्षता में संचालक समिति का गठन करवाने, संचालक समिति में पाली, जालोर के विधायक, दोनों जिलों के जिला कलेक्टर, सिंचाई व पीएचडी विभाग के अधीक्षण अभियंताओं एवं किसान संगठनों के प्रतिनिधीयों को शामिल करने तथा नर्मदा का पानी को पेयजल योजना तैयार कर आहोर की जनता को गुमराह किया जा रहा है। नर्मदा का पानी आहोर पहॅूचाने के लिए राज्य सरकार द्वारा करोड़ों रूपये बर्बाद करने के बाद भी आहोर की जनता को पानी नसीब नही हो पाया है।

योजना में हो रही देरी की निष्पक्ष जांच करवाने, आहोर क्षेत्र के नोसरा ऊनाम में वर्ष २०१५ में बनी नहर में घटिया निर्माण सामग्री के कारण नहर निर्माण होने के ६ माह में पूरी तरह से क्षतिग्रस्त होने से गत वर्ष कमांड क्षेत्र के खेतों में सिंचाई नही हो पाई थी। नहर को शीघ्र मरम्मत करने का आश्वासन दिया गया था। मगर अभी तक नहर की मरम्मत नही की गई। वही बजरी खनन माफियों द्वारा आहोर सम्पूर्ण क्षेत्र में बेधडक बजरी की अवैध खनन पर रॉयल्टी वसूलने एवं राज्य सरकार द्वारा किसानों के लिए बजरी रॉयल्टी में छूट देने के बावजूद भी ठेकेदारों द्वारा मनमर्जी से जबरन गलत रॉयल्टी वसूलने को लेकर ठेकेदार को पाबंद करवाने  सहित विद्युत, परिवहन, आहोर-जालोर मार्ग पर स्थित टोल सहित विभिन्न समस्याओं को लेकर आहोर क्षेत्र के किसानों द्वारा ज्ञापन दिया गया। एसडीएम प्रकाशचंद्र अग्रवाल ने किसानों की समस्याओं को उच्च अधिकारियों तक पहॅूचाने के साथ समाधान करवाने का आश्वासन दिया।  इस दौरान आहोर क्षेत्र के कई गांवो के किसान मौजूद थे।

Visitor Counter :