संकट में पशुओ के लिए संजीवनी बन रहा पशु पालन विभाग

   Posted Date : 8/11/2017 8:12:58 PM

सिरोही। जिला कलेल्टर संदेश नायक और गोपालन मंत्री ओटाराम देवासी के निर्देशानुसार पशपालन विभाग की पशुचिकित्सा टीमों द्वारा निरन्तर कार्य करते हुए अतिवृष्टि प्रभावित पशुपालकों को पशुचिकित्सा सुविधांए और आवश्यक दवाईया एव वे1िसीन गावों में सूचारू करवा रहे हैं। साथ ही पशुपालकों को वर्षा जनित रोगों एवं मौसमी बिमारियों से बचाव की जानकारी देने के साथ  के साथ मोबाईल यूनिट द्वारा गांव गांव जाकर में शिविर लगाकर पशुचिकित्सा सुविधा मुहैया करवाई जा रही हैं।

दी जा रही इसकी भी जानकारी

वहीं  पशुपालको को जानकारी दी जा रही हैं कि अतिवृष्टि के दौरान अपने पशुओं को खुला नहीं छोडे। साथ ही पशुुपालकों को यह भी कहां गया है ंकि पशुओं के बाडें में कीटनाशकध्फि नाईल का छिडकाव किया जायें जिससे पशुओं में बिमारी नहीं फैल सकें।  टीकाकरण एवं पशुचिकित्सा शिविरों के क्रम में भी शुक्रवार को ग्राम पंचायत बालदा के राजपुरा गांव में पशुपालकों की लिखित मांग पर शिविर का आयोजन किया गया।

इन्होने किया उपचार

उक्त शिविर में स्वंय डॉ. जगदीश बरबड संयुक्त निदेशक पशुपालन विभाग सिरोही सहित डॉ. संजू ढाका पशुचिकित्सा अधिकारी एवं पशुधन परिचर नरेन्द्र सिंह देवडा नरेन्द्र सिंह परमार, पशुधन सहायक अर्जुन लाल मीणा एवं गोविन्द राम मीणा की टीम ने  भैंस वंश, ऊंट, भेड  बकरियों का उपचार किया। उक्त शिविर में  भेडों की डोजिंग एवं  डस्टिंग की गयीं। 00 भेडों का फि डकियां रोग से बचाव हेतु टीकाकरण किया गया।

गौशलाओं के आकडे

वही रणवीर की पडताल के अनुसार अतिवृष्टि एवं बाढ से प्रभावित जिले की विभिन्न गौशालाओ में  बीमार पशुओं का उपचार किया गया। जिले में बाढ जैसे हालातध्अतिवृष्टि होने के कारण सैकडों गौंवंश की मृत्यू हुई हैं। लेकिन पशुपालन विभाग की टीम द्वारा विभिन्न गौशालाओं में तत्परता से उपचार विभिन्न गठित टीमों द्वारा समय पर किये जाने से हजारों गौंवश को मौत के मुँह में जाने से बचाया गया।

इनका कहना है 
बाढ जैसे हालातध्अतिवृष्टि में मृत पशुओं का जिला कले1टर और गोपालन मंत्री द्वारा समय समय पर दिये गये दिशा निर्देशों की पालना करते हुए वैज्ञानिक विधि से निस्तारण किया गया एवं जिले में कहीं से भी पशुओं की बीमारी की सूचना प्राप्त होने पर तुरन्त प्रभाव से कार्रवाई की गयी । पशुपालको की पीडा को दुर करना हमारी पहली प्राथमिकता हैं और उच्चअधिकारियों के आदेशों की पालना तुरन्त प्रभाव से की जायेगीं। ... डॉ. जगदीश बरबड,  संयुक्त निदेशक पशुपालन विभाग सिरोही

Visitor Counter :