बीकानेरः आफत की बारिश, सड़कें बहीं, पटरियां झूलीं, रेल यातायात ठप्प

   Posted Date : 6/22/2017 8:10:20 PM

बीकानेर। दक्षिण पश्चिम मानसून के राजस्थान के मरुस्थलीय इलाकों में सक्रिय होने से पिछले 24 घंटों में बीकानेर जिले में भारी बारिश हुई। मूसलाधार बारिश के चलते बीकानेर जिले की कोलायत तहसील के गांवों में बाढ़ के हालात पैदा हो गये हैं। सिंचाई विभाग से प्राप्त सूचना के अनुसार बीकानेर के कोलायत में शाम चार बजे तक 110 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई। मानसून से पहले ही बारिश ने कोलायत में बाढ़ के हालात बना दिए। 110 मिलीमीटर बारिश होने से झझू के पास रेलवे ट्रेक के ऊपर पानी बहने लगा। इससे पटरी के नीचे दो जगह कटाव बन गया। कटाव से पटरियां झूलने लगी। इस वजह से रेलवे यातायात रोकना पड़ा। चार गाड़ियां प्रभावित हुई।

रेलवे ने दिन में ट्रेक सही करने का काम शुरू कर दिया है। तेज बारिश से कपिल सरोवर जिसकी अभी सफाई चल रही थी वह लबालब हो गया। झझू के चौराहे पर अभी भी चार फीट तक पानी भरा हुआ है। तहसील के कई गांवों के स्कूलों में पानी भर गया जिससे गुरुवार को शिक्षण कार्य बाधित रहा। चार पक्के मकान, तीन झोपड़ियां और कई घरों की चारदीवारी ढह गई। कोलायत के अलावा बज्जू, पांचू में भी तेज बारिश से पानी घरों में घुस गया। गजनेर के चाण्डासागर में चादर चली। अक्कासर में घरों में पानी घुस गया। इसके अलावा केसरदेसर बोहरान, गंगागुरान, केसरदेसर जाटान, किल्चू देवड़ान, गजरूपदेसर, सोवा किरतासर, सिंधु व मोरखाणा में तेज बारिश से पानी घरों में घुस गया। लोगों को सामान समेटने का वक्त नहीं मिला। कुछ जगह पशुओं के मरने की भी खबर है। बरसिंगसर,पलाना, बासी, महाजन, अर्जुनसर में तेज बारिश हुई।

प्रदेश के जोधपुर, बाड़मेर, जयपुर, टोंक, सवाईमाधोपुर में सुबह-सुबह बारिश होने से मौसम खुशगवार हो गया तो वहीं किसानों के चेहरे भी खिल उठे। मौसम विभाग के अनुसार प्रदेश में पश्चिमी विक्षोभ के कारण मानसून ये पहले इतनी बारिश हो गई है जो कि किसानों के लिए भी फायदेमंद है। बारिश के कारण पारे में भी खासी गिरावट दर्ज की गई और हवा में हल्की सी ठंडक और बढ़ गई। मौसम विभाग ने प्रदेश में जून के अंतिम सप्ताह तक मानसून के आने की संभावना जताई है।

Visitor Counter :